Korba: परिवार वालों को कमरे में बंद कर व्यापारी ने दी जान, सुबह दरवाजा तोड़ा तो लटका मिला शव

0
39


सांकेतिक फोटो
– फोटो : social media

ख़बर सुनें

छत्तीसगढ़ के कोरबा में एक व्यापारी ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। मरने से पहले व्यापारी ने सो रहे पूरे परिवार को कमरे में बंद कर दिया। अगले दिन सुबह जब उनकी नींद खुली तो दरवाजा बंद था। किसी तरह वे बाहर निकले और व्यापारी के कमरे का दरवाजा तोड़ा तो फंदे से शव लटका मिला। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। हालांकि व्यापारी के खुदकुशी का कारण अभी स्पष्ट नहीं है। मामला रामपुर चौकी क्षेत्र का है। 

जानकारी के मुताबिक, रिस्दी वार्ड निवासी महेश साहू (42) ने परिवार के साथ सोमवार रात खाना खाया। इसके बाद सभी लोग अपने-अपने कमरे में सोने चले गए। अगले दिन सुबह उनकी नींद खुली तो कमरे का दरवाजा बाहर से बंद था। एक कमरे के पीछे का दरवाजा खुला था। वहां से उनका बेटा दीवार फांदकर बाहर निकला और फिर कमरे का दरवाजा खोला। परिजन बाहर निकले तो महेश के कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था।

इस पर परिजनों ने दरवाजा तोड़ दिया। अंदर दाखिल हुए तो महेश का शव पाइप के एंगल के सहारे फांसी से लटका हुआ था। शोर सुनकर आसपास के लोग पहुंचे और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने शव को नीचे उतरवाया और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। महेश के बड़े बेटे राहुल ने बताया कि उसका एक छोटा भाई और बहन है। पिता घर में ही राशन की दुकान संचालित करते थे। जबकि वह प्राइवेट कंपनी में काम करता है। उसकी नाइट शिफ्ट थी। 

विस्तार

छत्तीसगढ़ के कोरबा में एक व्यापारी ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। मरने से पहले व्यापारी ने सो रहे पूरे परिवार को कमरे में बंद कर दिया। अगले दिन सुबह जब उनकी नींद खुली तो दरवाजा बंद था। किसी तरह वे बाहर निकले और व्यापारी के कमरे का दरवाजा तोड़ा तो फंदे से शव लटका मिला। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। हालांकि व्यापारी के खुदकुशी का कारण अभी स्पष्ट नहीं है। मामला रामपुर चौकी क्षेत्र का है। 

जानकारी के मुताबिक, रिस्दी वार्ड निवासी महेश साहू (42) ने परिवार के साथ सोमवार रात खाना खाया। इसके बाद सभी लोग अपने-अपने कमरे में सोने चले गए। अगले दिन सुबह उनकी नींद खुली तो कमरे का दरवाजा बाहर से बंद था। एक कमरे के पीछे का दरवाजा खुला था। वहां से उनका बेटा दीवार फांदकर बाहर निकला और फिर कमरे का दरवाजा खोला। परिजन बाहर निकले तो महेश के कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था।

इस पर परिजनों ने दरवाजा तोड़ दिया। अंदर दाखिल हुए तो महेश का शव पाइप के एंगल के सहारे फांसी से लटका हुआ था। शोर सुनकर आसपास के लोग पहुंचे और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने शव को नीचे उतरवाया और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। महेश के बड़े बेटे राहुल ने बताया कि उसका एक छोटा भाई और बहन है। पिता घर में ही राशन की दुकान संचालित करते थे। जबकि वह प्राइवेट कंपनी में काम करता है। उसकी नाइट शिफ्ट थी। 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here