Kawardha: अमर उजाला की खबर का असर, मध्यान्ह भोजन का जायजा लेने के लिए टीम का गठन, कई स्कूलों का किया निरीक्षण

0
34


मध्यान्ह भोजन का जायजा लेते अधिकारी
– फोटो : ANI

ख़बर सुनें

कवर्धा में ‘बच्चों का पौष्टिक आहार’ गायब के नाम से अमर उजाला ने प्रमुखता से खबर प्रकाशित किया गया था जिसको संज्ञान में लेते हुए जिला प्रशासन ने मध्यान्ह भोजन का जायजा लेने के लिए एक टीम गठित कर प्रशानिक अधिकारी, बीईओ, बीआरसी और संकूल समन्वयकों ने एक साथ स्कूलों का औचक निरीक्षण किया। एसडीएम ने औचक निरीक्षण में कवर्धा शहर के पांच स्कूलों में 5 समूहों को कारण बताओं नोटिस जारी किया।

सभी स्कूलों, आश्रम और छात्रावासों का प्रशानिक अधिकारी एसडीएम, जिला शिक्षा अधिकारी सहित तहसीलदार, नायब तहसीलदार, बीईओ, बीआरसी और संकुल समन्वयकों ने एक साथ औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान वहां के अध्यापन कार्य, शिक्षकों की उपस्थिति सहित मध्यान्ह भोजन की व्यवस्था का अवलोकन किया गया। निरीक्षण के दौरान प्रशासनिक अधिकारियों और बीईओ, बीआरसी सहित संकुल समन्वयकों ने बच्चों से उनके अध्यापन कार्यों, शिक्षकों की नियमित उपस्थिति और मध्यान्ह भोजन में परोसे जाने वाले पोषण आहार के बारे में विस्तृत जानकारी ली। 

रसोई में पहुंचकर स्कूली बच्चों के लिए बन रहे पोषण आहार मध्यान्ह भोजन की जांच की। निरीक्षण में अधिकांश स्कूलों में मध्यान्ह भोजन में मैन्यू का पालन नही किया गया वही कुछ स्कूलों में संचालित मध्यान्ह भोजन में कमियां पाई गई। कवर्धा एसडीएम पीसी कोरी ने कवर्धा शहर एवं आसपास के 10 से अधिक स्कूलों को औचक निरीक्षण किया और अध्यापन कार्य सहित पोषण आहार की गुणवत्ता की जांच की। निरीक्षण के दौरान कवर्धा शहर के पांच स्कूलों में मध्यान्ह भोजन में मैन्यू का पालन नहीं करने पर नोटिस जारी किया है। इन समूहों में प्राथमिक शाला स्कूल कैलाशनगर के सरस्वती महिला स्व-सहायता समूह, माध्यमिक स्कूल कैलाश नगर के जय मां दुर्गा महिला स्व-सहायता समूह, शंकर नगर प्राथमिक स्कूल के जय मां चंडी महिला स्व-सहायत समूह, सत्तीवार्ड के प्रायमरी और माध्यमिक स्कूल के जय सतनाम महिला स्वसहायता समूह शामिल है।

इसी प्रकार जिला शिक्षा अधिकारी महेन्द्र गुप्ता ने स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट हिन्दी माध्यम विद्यालय कवर्धा एवं शासकीय प्रमुख प्राथमिक शाला कवर्धा का औचक निरीक्षण कर बच्चों के साथ मध्यान्ह भोजन ग्रहण कर मध्यान्ह भोजन की गुणवत्ता जांच की। जिला दल में जिला शिक्षा अधिकारी एम.के. गुप्ता के साथ सहायक संचालक  यू.आर. चन्द्राकर, सतीश यदु, एम.आई.एस. प्रशासक व  प्रेम प्रकाश बलभद्र सम्मिलित रहे।

सहायक विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी अनिल केशरवानी द्वारा संयुक्तरूप से शासकीय प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक शाला कैलाश नगर एवं सत्तीवार्ड का निरीक्षण किया गया तथा खाद्यान की मात्रा एवं गुणवत्ता सुधार के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। जिला मिशन समन्वयक विनोद श्रीवास्तव द्वारा शास. पूर्व माध्यमिक शाला सत्ती वार्ड में निरीक्षण कर मध्यान्ह भोजन ग्रहण किया गया वहीँ मध्यान्ह भोजन योजना शासन के निर्देशानुसार नियमित रूप से प्रत्येक विद्यार्थियों के लिए निर्धारित खाद्यान की मात्रा सहित मैन्यू अनुरूप दाल, चावल, हरी सब्जी, गरम भोजन के रूप में आचार के साथ प्रदान किया जा रहा है। मैन्यू अनुरूप निर्धारित तिथि को पौष्टिक सोया बड़ी की सब्जी एवं सुगंधित सोया दुग्ध निर्धारित मात्रा में विद्यार्थियों को उपलब्ध कराया जा रहा है। शहर के विभिन्न विद्यालयों का अधिकारियों, संकुल प्रभारियों व संकुल शैक्षिक समन्वयकों द्वारा औचक निरीक्षण कर मध्यान्ह भोजन संचालन की स्थिति एवं गुणवत्ता की जांच की गयी।

विस्तार

कवर्धा में ‘बच्चों का पौष्टिक आहार’ गायब के नाम से अमर उजाला ने प्रमुखता से खबर प्रकाशित किया गया था जिसको संज्ञान में लेते हुए जिला प्रशासन ने मध्यान्ह भोजन का जायजा लेने के लिए एक टीम गठित कर प्रशानिक अधिकारी, बीईओ, बीआरसी और संकूल समन्वयकों ने एक साथ स्कूलों का औचक निरीक्षण किया। एसडीएम ने औचक निरीक्षण में कवर्धा शहर के पांच स्कूलों में 5 समूहों को कारण बताओं नोटिस जारी किया।

सभी स्कूलों, आश्रम और छात्रावासों का प्रशानिक अधिकारी एसडीएम, जिला शिक्षा अधिकारी सहित तहसीलदार, नायब तहसीलदार, बीईओ, बीआरसी और संकुल समन्वयकों ने एक साथ औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान वहां के अध्यापन कार्य, शिक्षकों की उपस्थिति सहित मध्यान्ह भोजन की व्यवस्था का अवलोकन किया गया। निरीक्षण के दौरान प्रशासनिक अधिकारियों और बीईओ, बीआरसी सहित संकुल समन्वयकों ने बच्चों से उनके अध्यापन कार्यों, शिक्षकों की नियमित उपस्थिति और मध्यान्ह भोजन में परोसे जाने वाले पोषण आहार के बारे में विस्तृत जानकारी ली। 

रसोई में पहुंचकर स्कूली बच्चों के लिए बन रहे पोषण आहार मध्यान्ह भोजन की जांच की। निरीक्षण में अधिकांश स्कूलों में मध्यान्ह भोजन में मैन्यू का पालन नही किया गया वही कुछ स्कूलों में संचालित मध्यान्ह भोजन में कमियां पाई गई। कवर्धा एसडीएम पीसी कोरी ने कवर्धा शहर एवं आसपास के 10 से अधिक स्कूलों को औचक निरीक्षण किया और अध्यापन कार्य सहित पोषण आहार की गुणवत्ता की जांच की। निरीक्षण के दौरान कवर्धा शहर के पांच स्कूलों में मध्यान्ह भोजन में मैन्यू का पालन नहीं करने पर नोटिस जारी किया है। इन समूहों में प्राथमिक शाला स्कूल कैलाशनगर के सरस्वती महिला स्व-सहायता समूह, माध्यमिक स्कूल कैलाश नगर के जय मां दुर्गा महिला स्व-सहायता समूह, शंकर नगर प्राथमिक स्कूल के जय मां चंडी महिला स्व-सहायत समूह, सत्तीवार्ड के प्रायमरी और माध्यमिक स्कूल के जय सतनाम महिला स्वसहायता समूह शामिल है।

इसी प्रकार जिला शिक्षा अधिकारी महेन्द्र गुप्ता ने स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट हिन्दी माध्यम विद्यालय कवर्धा एवं शासकीय प्रमुख प्राथमिक शाला कवर्धा का औचक निरीक्षण कर बच्चों के साथ मध्यान्ह भोजन ग्रहण कर मध्यान्ह भोजन की गुणवत्ता जांच की। जिला दल में जिला शिक्षा अधिकारी एम.के. गुप्ता के साथ सहायक संचालक  यू.आर. चन्द्राकर, सतीश यदु, एम.आई.एस. प्रशासक व  प्रेम प्रकाश बलभद्र सम्मिलित रहे।

सहायक विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी अनिल केशरवानी द्वारा संयुक्तरूप से शासकीय प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक शाला कैलाश नगर एवं सत्तीवार्ड का निरीक्षण किया गया तथा खाद्यान की मात्रा एवं गुणवत्ता सुधार के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। जिला मिशन समन्वयक विनोद श्रीवास्तव द्वारा शास. पूर्व माध्यमिक शाला सत्ती वार्ड में निरीक्षण कर मध्यान्ह भोजन ग्रहण किया गया वहीँ मध्यान्ह भोजन योजना शासन के निर्देशानुसार नियमित रूप से प्रत्येक विद्यार्थियों के लिए निर्धारित खाद्यान की मात्रा सहित मैन्यू अनुरूप दाल, चावल, हरी सब्जी, गरम भोजन के रूप में आचार के साथ प्रदान किया जा रहा है। मैन्यू अनुरूप निर्धारित तिथि को पौष्टिक सोया बड़ी की सब्जी एवं सुगंधित सोया दुग्ध निर्धारित मात्रा में विद्यार्थियों को उपलब्ध कराया जा रहा है। शहर के विभिन्न विद्यालयों का अधिकारियों, संकुल प्रभारियों व संकुल शैक्षिक समन्वयकों द्वारा औचक निरीक्षण कर मध्यान्ह भोजन संचालन की स्थिति एवं गुणवत्ता की जांच की गयी।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here