Kabirdham: सात करोड़ रुपये से ज्यादा का सरकारी धान खा गईं तीन राइस मिलें, कलेक्टर ने दिए FIR के आदेश

0
44


सांकेतिक फोटो
– फोटो : social media

ख़बर सुनें

छत्तीसगढ़ के कवर्धा (कबीरधाम) में तीन राइस मिलर्स ने राज्य सरकार को सात करोड़ रुपये से ज्यादा का नुकसान किया है। यह राइस मिलें शासन का करीब दो हजार मीट्रिक टन धान हड़प गए। इसके बाद कलेक्टर ने तीनों के खिलाफ FIR दर्ज करने के आदेश दिए हैं। साथ ही कहा है कि इन राइस मिलर्स से नुकसान की वसूली की जाएगी। 

कलेक्टर जन्मेजय महोबे ने जिले के तीन राइस मिलर लालपुर कला स्थित राज राइस मिल, डबराभाट स्थित हीराफूड राइस मिल और महाराजपुर स्थित जनक राइस मिल के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए हैं। आरोप है कि इन तीनों राइस मिलों ने मिलकर राज्य सरकार के 07 करोड़ 85 लाख रुपये के धान का घपला किया है। 

अफसरों की ओर से बताया गया कि खरीफ वितरण वर्ष 2021-22 अंतर्गत 2104 मीट्रिक टन चावल राइस मिलों को प्रशासन के पास जमा करना था। इसके बाद भी 30 नवंबर 2022 तक जमा नहीं किया गया। इसे लेकर कई बार राइस मिलों को नोटिस भी जारी हुआ, लेकिन उन्होंने न तो कोई जवाब दिया और धान जमा कराया। 

विस्तार

छत्तीसगढ़ के कवर्धा (कबीरधाम) में तीन राइस मिलर्स ने राज्य सरकार को सात करोड़ रुपये से ज्यादा का नुकसान किया है। यह राइस मिलें शासन का करीब दो हजार मीट्रिक टन धान हड़प गए। इसके बाद कलेक्टर ने तीनों के खिलाफ FIR दर्ज करने के आदेश दिए हैं। साथ ही कहा है कि इन राइस मिलर्स से नुकसान की वसूली की जाएगी। 

कलेक्टर जन्मेजय महोबे ने जिले के तीन राइस मिलर लालपुर कला स्थित राज राइस मिल, डबराभाट स्थित हीराफूड राइस मिल और महाराजपुर स्थित जनक राइस मिल के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए हैं। आरोप है कि इन तीनों राइस मिलों ने मिलकर राज्य सरकार के 07 करोड़ 85 लाख रुपये के धान का घपला किया है। 

अफसरों की ओर से बताया गया कि खरीफ वितरण वर्ष 2021-22 अंतर्गत 2104 मीट्रिक टन चावल राइस मिलों को प्रशासन के पास जमा करना था। इसके बाद भी 30 नवंबर 2022 तक जमा नहीं किया गया। इसे लेकर कई बार राइस मिलों को नोटिस भी जारी हुआ, लेकिन उन्होंने न तो कोई जवाब दिया और धान जमा कराया। 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here