Tuesday, October 4, 2022

Congress Protest: छत्तीसगढ़ के सीएम ने केंद्र पर लगाए आरोप, कहा- विपक्ष की आवाज दबाने के लिए जांच एजेंसियों का ‘दुरुपयोग’ कर रही मोदी सरकार

More articles


ख़बर सुनें

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोमवार को मोदी सरकार पर विपक्ष की आवाज दबाने के लिए जांच एजेंसियों का “दुरुपयोग” करने का आरोप लगाया। उनका यह बयान कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय के समक्ष पेश होने के बाद आया है। 

भूपेश बघेल ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना
गौरतलब है कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी को नेशनल हेराल्ड मामले में पूछताछ के लिए ईडी ने तलब किया था। इस संदर्भ में वे आज ईडी के समक्ष पेश हुए। इसका विरोध करते हुए कांग्रेसियों ने राजधानी दिल्ली में ईडी दफ्तर का घेराव करने की कोशिश की। इस दौरान छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि पूरा देश सत्ताधारी पार्टी की “तानाशाही” देख रहा है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पार्टी मुख्यालय तक पहुंचने से रोका जा रहा है। लोकतंत्र को कुचलने के प्रयास में पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी गई है और चारों तरफ पुलिस तैनात कर दी गई है। विरोध प्रदर्शन करना विपक्षी दल का लोकतांत्रिक अधिकार है। इस दौरान भूपेश बघेल ने भाजपा पर विपक्ष को दबाने के लिए प्रयास करने का आरोप लगाया। 

‘ईडी की कार्रवाई दुर्भावनापूर्ण’
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ईडी की कार्रवाई को दुर्भावनापूर्ण करार दिया और केंद्र पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी), केंद्रीय ब्यूरो जांच (सीबीआई) और आयकर जैसी जांच एजेंसियों का “दुरुपयोग” करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार इन एजेंसियों का प्रयोग विपक्ष की आवाज दबाने के लिए कर रही है। बघेल ने कहा कि गांधी परिवार के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप निराधार थे। उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी को झूठे मामलों में फंसाया गया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं को राजनीतिक द्वेष के कारण परेशान किया जा रहा है।

प्रदर्शन के दौरान भूपेश बघेल ने भाजपा पर राजनीतिक प्रतिशोध” लेने का आरोप लगाते हुए चेतावनी दी कि जब सोनिया गांधी ईडी के सामने पेश होंगी, तो इससे बड़ा प्रदर्शन होगा। उन्होंने आगे कहा कि दिल्ली पुलिस चाहे कितनी भी बैरिकेडिंग कर ले, चाहे कितनी भी कोशिश कर ले, सच्चाई की जीत होगी। भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार केवल तानाशाही का पालन कर रही है। उन्होंने कहा कि देश के किसी कानून का पालन नहीं किया जा रहा है।

पुलिस ने कई कांग्रसियों को लिया हिरासत में
राहुल गांधी और सोनिया गांधी को ईडी के समन पर मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी अखबार का कर्ज चुकाने की कार्रवाई में कोई अवैधता नहीं है, केवल एक व्यापार पुनर्गठन किया गया था और ऐतिहासिक समाचार पत्र को जीवित रखने के लिए इक्विटी मंगाई गई थी।

कांग्रेस के विरोध को देखते हुए  दिल्ली पुलिस ने हल्का पुलिस बल प्रयोग करते हुए कई कांग्रेसियों को हिरासत में लिया है। इस दौरान छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल समेत विधायक विकास उपाध्याय समय दर्जनभर कांग्रेसियों को हिरासत में लिया गया है। गौरतलब है कि राहुल गांधी पूछताछ के लिए करीब 11 बजे जांच एजेंसी के ऑफिस पहुंचे थे। करीब ढाई घंटे के बाद वह लंच ब्रेक के लिए ईडी कार्यालय से निकले। अधिकारियों ने कहा कि उनसे पूछताछ शाम तक चलने की उम्मीद है।

विस्तार

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोमवार को मोदी सरकार पर विपक्ष की आवाज दबाने के लिए जांच एजेंसियों का “दुरुपयोग” करने का आरोप लगाया। उनका यह बयान कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय के समक्ष पेश होने के बाद आया है। 

भूपेश बघेल ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना

गौरतलब है कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी को नेशनल हेराल्ड मामले में पूछताछ के लिए ईडी ने तलब किया था। इस संदर्भ में वे आज ईडी के समक्ष पेश हुए। इसका विरोध करते हुए कांग्रेसियों ने राजधानी दिल्ली में ईडी दफ्तर का घेराव करने की कोशिश की। इस दौरान छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि पूरा देश सत्ताधारी पार्टी की “तानाशाही” देख रहा है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पार्टी मुख्यालय तक पहुंचने से रोका जा रहा है। लोकतंत्र को कुचलने के प्रयास में पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी गई है और चारों तरफ पुलिस तैनात कर दी गई है। विरोध प्रदर्शन करना विपक्षी दल का लोकतांत्रिक अधिकार है। इस दौरान भूपेश बघेल ने भाजपा पर विपक्ष को दबाने के लिए प्रयास करने का आरोप लगाया। 

‘ईडी की कार्रवाई दुर्भावनापूर्ण’

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ईडी की कार्रवाई को दुर्भावनापूर्ण करार दिया और केंद्र पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी), केंद्रीय ब्यूरो जांच (सीबीआई) और आयकर जैसी जांच एजेंसियों का “दुरुपयोग” करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार इन एजेंसियों का प्रयोग विपक्ष की आवाज दबाने के लिए कर रही है। बघेल ने कहा कि गांधी परिवार के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप निराधार थे। उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी को झूठे मामलों में फंसाया गया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं को राजनीतिक द्वेष के कारण परेशान किया जा रहा है।

प्रदर्शन के दौरान भूपेश बघेल ने भाजपा पर राजनीतिक प्रतिशोध” लेने का आरोप लगाते हुए चेतावनी दी कि जब सोनिया गांधी ईडी के सामने पेश होंगी, तो इससे बड़ा प्रदर्शन होगा। उन्होंने आगे कहा कि दिल्ली पुलिस चाहे कितनी भी बैरिकेडिंग कर ले, चाहे कितनी भी कोशिश कर ले, सच्चाई की जीत होगी। भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार केवल तानाशाही का पालन कर रही है। उन्होंने कहा कि देश के किसी कानून का पालन नहीं किया जा रहा है।

पुलिस ने कई कांग्रसियों को लिया हिरासत में

राहुल गांधी और सोनिया गांधी को ईडी के समन पर मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी अखबार का कर्ज चुकाने की कार्रवाई में कोई अवैधता नहीं है, केवल एक व्यापार पुनर्गठन किया गया था और ऐतिहासिक समाचार पत्र को जीवित रखने के लिए इक्विटी मंगाई गई थी।

कांग्रेस के विरोध को देखते हुए  दिल्ली पुलिस ने हल्का पुलिस बल प्रयोग करते हुए कई कांग्रेसियों को हिरासत में लिया है। इस दौरान छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल समेत विधायक विकास उपाध्याय समय दर्जनभर कांग्रेसियों को हिरासत में लिया गया है। गौरतलब है कि राहुल गांधी पूछताछ के लिए करीब 11 बजे जांच एजेंसी के ऑफिस पहुंचे थे। करीब ढाई घंटे के बाद वह लंच ब्रेक के लिए ईडी कार्यालय से निकले। अधिकारियों ने कहा कि उनसे पूछताछ शाम तक चलने की उम्मीद है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest