Bilaspur: प्राचीन गणेश मूर्ति चोरी करने वाले चढ़े पुलिस के हत्थे, तीन महीने पहले की थी चोरी

0
39


मंदिर से मूर्ती चुराने वाले आरोपी गिरफ्तार
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

बिलासपुर के मस्तूरी क्षेत्र के ग्राम ईटवा पाली  से 25-26 अगस्त की रात में अज्ञात लोगों ने प्राचीन भांवर गणेश मंदिर के पुजारी महेश राम केवट के साथ मारपीट कर मंदिर से  मूर्ति लूट कर ले गये थे। एसएसपी पारूल माथुर ने तत्काल घटना स्थल पहुंचकर तीन टीमों का गठन किया और आरोपियों की तलाश शुरु कर दी। 

चार दिन पूर्व क्राईम बांच के मस्तुरी के स्थानीय आरक्षक हेमन्त सिंह को उसके मुखबीरों के माध्यम से यह सूचना मिली किं ग्राम चौहा के दो लडके काले पत्थर के एक टुकडे का सैम्पल लेकर बेचने के लिए ग्राहक तलाश रहे हैं। इस सूचना को एसएसपी पारूल माथुर ने गंभीरता से लेते हुए क्राईम बांच प्रभारी हरविन्दर सिंह को स्वयं ग्राहक बनकर सौदा करने भेजा।

 

क्राईम ब्रांच प्रभारी हरविन्दर सिंह एवं आर गोविन्द शर्मा ने खुद को व्यापारी बताकर तीन दिन पहले युवराज टण्डन से मुलाकात कर सौदे बाजी की चर्चा करते हुए पहले मूर्ति दिखाने की मांग की। ग्राम चौहा में पांच लाख के कुछ असली और चुरन वाली नकली नोट एण्डवास मनी के रूप में दिखाते हुए क्राईम ब्रांच प्रभारी ने पुनः युवराज टण्डन से पहले मूर्ति दिखाने की बात दोहराई तब युवराज ने अपने दोस्त मोहताब सुमन को फोन कर मोटर साइकिल में मूर्ति मंगवाई। जैसे ही मोहताब मूर्ति लेकर आया और मुर्ति दिखाई तभी काईम ब्रांच की टीम ने घेराबंदी कर युवराज और मोहताब को गिरफ्तार कर लिया।

विस्तार

बिलासपुर के मस्तूरी क्षेत्र के ग्राम ईटवा पाली  से 25-26 अगस्त की रात में अज्ञात लोगों ने प्राचीन भांवर गणेश मंदिर के पुजारी महेश राम केवट के साथ मारपीट कर मंदिर से  मूर्ति लूट कर ले गये थे। एसएसपी पारूल माथुर ने तत्काल घटना स्थल पहुंचकर तीन टीमों का गठन किया और आरोपियों की तलाश शुरु कर दी। 


चार दिन पूर्व क्राईम बांच के मस्तुरी के स्थानीय आरक्षक हेमन्त सिंह को उसके मुखबीरों के माध्यम से यह सूचना मिली किं ग्राम चौहा के दो लडके काले पत्थर के एक टुकडे का सैम्पल लेकर बेचने के लिए ग्राहक तलाश रहे हैं। इस सूचना को एसएसपी पारूल माथुर ने गंभीरता से लेते हुए क्राईम बांच प्रभारी हरविन्दर सिंह को स्वयं ग्राहक बनकर सौदा करने भेजा।

 

क्राईम ब्रांच प्रभारी हरविन्दर सिंह एवं आर गोविन्द शर्मा ने खुद को व्यापारी बताकर तीन दिन पहले युवराज टण्डन से मुलाकात कर सौदे बाजी की चर्चा करते हुए पहले मूर्ति दिखाने की मांग की। ग्राम चौहा में पांच लाख के कुछ असली और चुरन वाली नकली नोट एण्डवास मनी के रूप में दिखाते हुए क्राईम ब्रांच प्रभारी ने पुनः युवराज टण्डन से पहले मूर्ति दिखाने की बात दोहराई तब युवराज ने अपने दोस्त मोहताब सुमन को फोन कर मोटर साइकिल में मूर्ति मंगवाई। जैसे ही मोहताब मूर्ति लेकर आया और मुर्ति दिखाई तभी काईम ब्रांच की टीम ने घेराबंदी कर युवराज और मोहताब को गिरफ्तार कर लिया।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here