Friday, September 30, 2022

15 दिन के अंदर प्रकरण निपटाने के आश्वासन पर माने पूर्व मंत्री ननकीराम

More articles


Publish Date: | Sat, 11 Jun 2022 10:11 PM (IST)

कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)।तीन दशक पहले ग्राम तरदा, कनकी व कथरीमाल के किसानों की अधिग्रहित की गई जमीन का मुआवजा अविलंब प्रदान करने की मांग को लेकर दो चक्काजाम करने के बाद विधायक व पूर्व गृहमंत्री ननकीराम कंवर आमरण अनशन में बैठ गए। देर रात कंवर का स्वास्थ्य बिगड़ गया। तब प्रशासन ने अस्पताल भेजने एंबुलेंस बुलाया, पर कंवर अपनी मांग पर अड़े रहे। बाद में प्रशासन ने आश्वस्त किया कि प्रभावितों को 15 दिन के भीतर मुआवजा का प्रकरण निराकरण करा दिया जाएगा। इसके बाद कंवर ने अपना आंदोलन स्थगित कर दिया।

लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) द्वारा वर्ष 1978 में उरगा- बलौदा पहुंच मार्ग के लिए लगभग 70 किसानों की जमीन अधिग्रहित कर लगभग 60 फिट चौड़ी सड़क का निर्माण कराया। इस दौरान किसानों को मुआवजा नहीं दिया। वर्तमान में इस सड़क को स्टेट हाइवे बनाने के लिए 80 फिट चौड़ा किया जा रहा है। ऐसे में किसान अब अपनी जमीन का मुआवजा मांग रहे हैं। क्षेत्रीय विधायक ननकी राम कंवर ने भी पहले भी इन्हे मुआवजा दिलाने का काफी प्रयास किया, पर पीडब्ल्यूडी के अधिकारी टालमटोल की नीति अपनाते रहे। अब पुनः जमीन लेने की खबर पर किसान आंदोलित हो उठे। शुक्रवार को ननकीराम की अगुवाई में किसानों व कार्यकर्ताओं ने दो घंटा चक्काजाम किया, तदुपरांत ननकीराम ने आमरण अनशन शुरू कर दिया। आंदोलन की खबर मिलते ही कोरबा एसडीएम हरिशंकर पैकरा, पीडब्ल्यूडी के कार्यपालन अभियंता एके वर्मा, सहायक कार्यपालन अधिकारी रामनरेश दुबे, पुलिस विभाग से सीएसपी कोरबा योगेश साहू व अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे। चर्चा के दौरान पीडब्ल्यूडी ने जल्द ही प्रकरण को निपटने का आश्वासन देते रहे, पर कोई भी दस्तावेज पेश नहीं कर सके। इस बीच कंवर का ब्लडप्रेशर लो हो गया और स्वास्थ्य बिगडने लगा।इसके बाद भी वे अड़े रहे और अस्पताल नहीं जाने की बात ही। देर रात कलेक्टर रानू साहू ने पहल की और अधिकारियों से मुआवजा वितरण जल्द कराने कहा। इस पर एसडीएम पैकरा ने कंवर के पास जाकर आश्वस्त किया 15 दिवस के अंदर सभी प्रभावित किसानों का मुआवजा प्रकरण निराकरण कर भुगतान करने कहा। इस पर कंवर ने कहा कि यदि जल्द ही मामला का निराकरण नहीं होता है तो मजबूरन उग्र आंदोलन किया जाएगा। इसके साथ ही उन्होने अनशन समाप्त कर दिया, तब अधिकारियों ने राहत की सांस ली।

Posted By: Nai Dunia News Network

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest