Friday, September 30, 2022

‘हम उधार लेकर चाय खरीद रहे, कम पीएं’, मंत्री के बयान पर पाकिस्तानी भड़के, इंडियंस ने ली मौज

More articles


Image Source : FACEBOOK.COM/AHSANIQBAL.PK | PIXABAY
Pakistan minister Ahsan Iqbal asks people to cut down on tea.

Highlights

  • अहसान इकबाल ने देश के लोगों से कम चाय पीने की अपील की है।
  • पाकिस्तान पूरी दुनिया में चाय के सबसे बड़े खरीददारों में से एक है।
  • पाकिस्तान को विदेश से चाय मंगाने के लिए उधार लेना पड़ रहा है।

Pakistan Tea News: पाकिस्तान एक लंबे समय से गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहा है। हालात इस कदर खराब हो चुके हैं कि आम लोगों को रोजमर्रा की चीजें खरीदने में भी दिक्कत हो रही है। ऊपर से सत्ता से हटने के बाद पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने सरकार की नाक में दम कर रखा है। इन सारी तकलीफों के बीच पाकिस्तान के योजना मंत्री अहसान इकबाल ने देश के लोगों से कम चाय पीने की अपील की है। दरअसल, चाय के मामले में पाकिस्तान दुनिया के सबसे बड़े खरीददारों में एक है और इसकी हर चुस्की पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था पर भारी पड़ने लगी है।

उधार लेकर खरीदनी पड़ रही चाय

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पाकिस्तान फिलहाल गंभीर नकदी संकट से जूझ रहा है, और अहसान इकबाल की यह अपील इसीलिए सामने आई है। पाकिस्तानियों ने वित्त वर्ष 2021-22 में विदेश से आयात की हुई चाय पर 8300 करोड़ रुपये (40 करोड़ डॉलर) खर्च कर दिए थे। योजना मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान पूरी दुनिया में चाय के सबसे बड़े खरीददारों में से एक है और अब उसे विदेश से चाय मंगाने के लिए उधार लेना पड़ रहा है। गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहे देश के लोगों का चाय जैसी ‘लग्जरी’ पर खर्च करना सरकार को अखर रहा है।

‘एक से दो कप चाय कम पिएं’
इकबाल ने मंगलवार को कहा, ‘मैं मुल्क के लोगों से अपील करता हूं कि एक से दो कप चाय कम पिएं। हमें उधार लेकर विदेशों से चाय मंगानी पड़ रही है।’ बजट के आंकड़ों के मुताबिक, पाकिस्तान सरकार ने मौजूदा वित्त वर्ष में इससे पिछले वित्त वर्ष के मुकाबले चाय के आयात पर 1300 करोड़ रुपये (6 करोड़ डॉलर) ज्यादा खर्च किया है। यही वजह है कि मंत्री ने पाकिस्तान के लोगों से कम चाय पीने की अपील की, लेकिन इसका रिऐक्शन कुछ ऐसा रहा:

यो यो फनी सिंह ने अभिनंदन एपिसोड का सहारा लेकर वार किया।

पाकिस्तानी आर्मी की सैलरी पर भी लोगों की नजर पहुंची।

…तो किसी ने मंत्री जी का इंपोर्टेड चश्मा ही देख लिया।

इमरान के सपोर्टर भी इकबाल की मौज लेने में पीछे नहीं रहे।

पाकिस्तान की कंगाली का जिक्र आए और कश्मीर की बात न हो।

अभिनंदन का जिक्र किसी न किसी बहाने आना जारी ही रहा।

पाकिस्तानियों पर अपील का असर नहीं
ऐसे में देखा जाए तो इकबाल की अपील का पाकिस्तान के लोगों पर कोई खास असर नहीं दिखा, और साथ ही भारत के लोगों ने पाकिस्तानियों की खिंचाई अलग से कर दी। ऐसे में लगता है कि अब आगे कोई ऐसा बयान देने से पहले इकबाल कई बार सोचेंगे।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest