Friday, September 30, 2022

हमेशा के लिए बंद हो रही है गूगल की ये मैसेजिंग सर्विस, जानिए बंद करने की वजह

More articles


GoogleTalks Shutting Down: गूगल ने जब 2005 में GoogleTalks को लॉन्च किया था तो उस समय इसकी सीधी टक्कर स्काइप और MSN के साथ थी. कंपनी ने इसमें वॉइस और वीडियो कॉल फीचर पेश किया था, जिसे शुरू में जीमेल कॉन्टेक्ट्स के बीच तुरंत बातचीत के लिए डिजाइन किया गया था. अब गूगल ने अपनी इंस्टेंट मैसेजिंग सर्विस गूगल टॉक हैंगआउट को बंद करने का ऐलान कर दिया है. 16 जून 2022 से इस सर्विस को पूरी तरह से बंद किया जा रहा है.

2017 में दी थी सलाह

ये सर्विस कुछ दिनों तक पॉपुलर रही, लेकिन उसके बाद कंपनी ने 2017 में लोगों को गूगल हैंगआउट पर शिफ्ट होने की सलाह दी गई. कंपनी ने एक ब्लॉगपोस्ट में कहा, “हम गूगल टॉक को बंद कर रहे हैं. 16 जून 2022 को हम पिजिन और गाजिम सहित थर्ड पार्टी के ऐप्स के लिए अपना समर्थन समाप्त कर देंगे, जैसा कि हमने 2017 में घोषणा की थी.”

एंड्रॉयड पुलिस रिपोर्ट द्वारा यह सूचना मिली है कि इस सर्विस को 2005 में लॉन्च किया गया था. फिर GTalk काफी समय से ठप पड़ गया, लोगों ने इसका इस्तेमाल करना लगभग बंद ही कर दिया. फिर कुछ साल पहले 2017 में यूज़र्स से कहा गया कि वह गूगल हैंगआउट में शिफ्ट हो जाएं, लेकिन इस सबके बाद यह रिपोर्ट सामने आई की इस GTalk को थर्ड-पार्टी ऐप के ज़रिए Pidgim और Gajim जैसी सर्विस पर एक्सेस किया जा रहा था, फिर अब गूगल ने 16 जून 2022 से इस सर्विस को पूरी तरह से बंद करने का फैसला ले लिया है.

Google ने घोषणा की है कि वह Google टॉक को पूरी तरह से बंद कर रहा है और ये अब थर्ड पार्टी ऐप्स का सपोर्ट नहीं करेगा. 16 जून के बाद, जो कोई भी इस सर्विस में साइन इन करने की कोशिश करेगा, उसे Error दिखाई देगा।

5G services: सरकार ने दी 5G स्पेक्ट्रम नीलामी की इजाजत, आपको अक्टूबर तक मिल सकती हैं 5G सेवाएं

Increase Smartphone Capacity: इस तरीके से आप अपने पुराने एंड्रॉयड स्मार्टफोन को बनाए नए जैसा, परफॉर्मेंस बढ़ेगी



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest