Monday, October 3, 2022

संगीत के लिए 14 साल की उम्र में छोड़ दिया था घर, सुसाइड की कोशिश की लेकिन फिर बने टॉप सिंगर

More articles


Kailash Kher Life Facts: 7 जुलाई 1973 में उत्तर प्रदेश में जन्मे बॉलीवुड प्लेबैक सिंगर कैलाश खेर (Kailash Kher) का आज 49वां बर्थडे है. आज जिस मुकाम पर कैलाश हैं, उनका यहां तक का सफर आसान नहीं था. कैलाश का मन बचपन से ही संगीत में लगता था. लेकिन घरवाले नहीं चाहते थे कि वह संगीत की दुनिया में कदम रखें. कैलाश इस बात से परेशान हो गए और इसी वजह से 14 साल की उम्र में उन्होंने संगीत के लिए घर छोड़ दिया. पेट भरने के लिए वो बच्चों को संगीत की ट्यूशन देने लगे लेकिन साल 1999 कैलाश के लिए सबसे कठिन था.

इस साल कैलाश ने अपने फ्रैंड के साथ हैंडीक्राफ्ट एक्सपोर्ट बिजनेस शुरू किया. कैलाश और उनके फ्रेंड को इसमें भारी नुकसान हुआ. काफी नुकसान से परेशान होकर कैलाश ने आत्महत्या तक करने की कोशिश कर डाली और डिप्रेशन में चले गए. इस सदमे से उबरने के लिए वह ऋषिकेश चले गए और फिर साल 2001 में उन्होंने मुंबई का रुख कर लिया.

वहां कैलाश गुजारा करने के लिए गायकी के जो ऑफर मिलते, उसको तुरंत अपना लेते. यहां भी ज़िंदगी में बेहद उतार-चढ़ाव देखने को मिले लेकिन कैलाश ने संगीत का साथ नहीं छोड़ा. कैलाश की जिंदगी में उम्मीद की किरण तब नजर आई जब वो म्यूजिक डायरेक्टर राम संपत से मिले. उन्होंने कैलाश को एड में जिंगल्स गाने का मौका देकर उनके करियर में शुरुआत की मदद की.

अक्षय कुमार (Akshay Kumar)-प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) स्टारर फिल्म अंदाज (Andaaz) में कैलाश का ‘रब्बा इश्क ना होवे’ गाना रिलीज होते ही लोगों की जुबान पर चढ़ गया और यहीं से कैलाश खेर के अच्छे दिनों की शुरुआत भी हो गई.  इसके बाद कैलाश खेर ने एक से बढ़कर गाने गाए. उन्हें फिल्मफेयर का बेस्ट मेल प्लेबैक सिंगर का अवॉर्ड भी मिल चुका है. कैलाश ने हिंदी, नेपाली, तमिल, तेलुगू, मलयालम, कन्नड़, बंगाली, उड़िया और उर्दू भाषा में 700 से ज्यादा गाने गाए हैं. 

Ranveer Singh Birthday: कभी एड एजेंसी में नौकरी करते थे रणवीर सिंह, अब हैं करोड़ों की नेटवर्थ के मालिक

आज 3000 करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं ये सुपरस्टार, कभी बस स्टेंड पर सोए, क्लीनर तक का किया काम



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest