Sunday, October 2, 2022

रेल रोको आंदोलन में जुटी हजारों की भीड़: स्टेशन के रास्ते में पुलिस ने लगाए थे 2 बैरिकेड, 9 सूत्रीय मांगों को लेकर किया आंदोलन

More articles


जगदलपुर3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

रेलवे और पुलिस के अधिकारियों से बातचीत करते आंदोलनकारी।

छत्तीसगढ़ के बस्तर में 9 सूत्रीय मांगों को लेकर रेल रोकने के लिए हजारों लोग बुधवार को आंदोलन पर उतर आए। संभागीय मुख्यालय जगदलपुर में हजारों की भीड़ इकट्ठा हुई। रेल रोकने के लिए जगदलपुर के रेलवे स्टेशन पर पहुंचने से पहले ही पुलिस ने सभी को रोक लिया। जिससे आंदोलनकारी रेलवे ट्रैक तक नहीं पहुंच पाए। हालांकि, रेलवे प्रशासन ने आंदोलनकारियों की 2 मांगों को पूरा करने के लिए सहमति बनाई। लेकिन, हजारों लोग सारी 9 मांगों को पूरा करने पर अड़े रहे।

हजारों आंदोलनकारियों को रोकने के रेलवे और स्थानीय पुलिस ने भी कड़ी व्यवस्था की थी। स्टेशन के रास्ते पर कुल 2 बैरिकेड लगाए थे। एक 300 मीटर पहले और दूसरा स्टेशन के ठीक सामने दूसरा बैरिकेड था। हालांकि, आंदोलनकारी बैरिकेड को तोड़ नहीं पाए, जिससे वे स्टेशन के अंदर पटरियों तक नहीं पहुंच सके। रेलवे के एक प्रतिनिधि मंडल ने आंदोलनकारियों से बाद की, और 2 मांगे पूरी करने का आश्वासन दिया है। इधर, लोगों ने पूरी 9 मांगों को पूरा करने की बात कही।

बस्तर के अलग-अलग जगहों से लोग पहुंचे थे।

बस्तर के अलग-अलग जगहों से लोग पहुंचे थे।

कई महीनों से चल रहा विरोध
दरअसल, जगदलपुर को रेल मार्ग से राजधानी रायपुर से जोड़ने के लिए बस्तर में पिछले कई दिनों से लोग आंदोलन कर रहे हैं। लोगों की मांग है कि रावघाट रेल परियोजना का काम अधर में लटका हुआ है। इस परियोजना के तहत अंतागढ़ से आगे जगदलपुर तक पटरियां नहीं बिछाई जा रही है। जिससे बस्तर वासियों में जबरदस्त नाराजगी देखने को मिल रही है। कुछ महीने पहले आंदोलनकारियों ने अंतागढ़ से जगदलपुर तक पैदल यात्रा कर विरोध जताया था। मांग पूरी नहीं होने पर रेल रोकने की चेतावनी दी थी।

भारी संख्या में जवानों को तैनात किया गया था।

भारी संख्या में जवानों को तैनात किया गया था।

यह है मुख्य मांग

  • जगदलपुर को विशाखापट्टनम डिवीजन से रायगढ़ डिवीजन में ट्रांसफर किया जा रहा है। जगदलपुर को विशाखापट्टनम डिवीजन में ही रहने दिया जाए।
  • रावघाट जगदलपुर रेल लाइन परियोजना का निर्माण रेलवे विकास निगम करे एवं बस्तर रेलवे प्राइवेट लिमिटेड से इरकॉन कंपनी को निलंबित किया जाए और भ्रष्ट अधिकारियों पर सख्त कार्यवाही की जाए।
  • बंद पड़ी रावघाट जगदलपुर रेल लाइन परियोजना को जल्द शुरू किया जाए।
  • दुर्ग-जगदलपुर इंटरसिटी को पुनः प्रारंभ किया जाए और इस ट्रेन का विस्तार देश की राजधानी दिल्ली तक किया जाए।
  • ओडिशा के कोरापुट तक आने वाली विभिन्न ट्रेनों का विस्तार जगदलपुर तक किया जाए।
  • NMDC की तरह रेलवे CSR मद का पैसा बस्तर संभाग को दिया जाए।
  • जगदलपुर के रेलवे हॉस्पिटल का उन्नयन कर सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में तब्दील किया जाए।
  • जगदलपुर क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले संवेदनशील रेलवे क्रॉसिंग को चिन्हांकित कर ओवर ब्रिज या अंडर ब्रिज का निर्माण किया जाए।
  • जगदलपुर रेल्वे स्टेशन को सर्वसुविधायुक्त मॉर्डन स्टेशन के रूप में विकसित किया जाए।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest