Sunday, October 2, 2022

बिल्डर के खिलाफ एक्शन, अवैध प्लाटिंग को किया ध्वस्त: अचानक पहुंची प्रशासन की टीम; लाखों की लागत से बना मुख्यद्वार भी तोड़ दिया

More articles


दुर्ग37 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मुख्य गेट को तोड़ती जेसीबी

नागपुर हाईवे के किनारे सैकड़ों एकड़ भूमि पर अवैध प्लाटिंग कर रहे जिले के जानेमाने बिल्डर मनोज राजपूत के खिलाफ जिला प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की है। दुर्ग निगम प्रशासन, राजस्व विभाग और टाउन एंड कंट्री प्लान की संयुक्त टीम बुधवार सुबह मौके पर पहुंची और अवैध प्लाटिंग को हटाने की कार्रवाई की है। टीम ने इस दौरान अवैध कॉलोनी के मुख्य द्वार से लेकर बाउंड्रीवाल और अन्य निर्माण को पूरी तरह से तोड़ दिया है।

अवैध निर्माण को तोड़ती निगम की दो-दो जेसीबी

अवैध निर्माण को तोड़ती निगम की दो-दो जेसीबी

दुर्ग निगम से मिली जानकारी के मुताबिक मनोज राजपूत लेआउट एंड डेवलपर्स के खिलाफ अवैध प्लाटिंग को लेकर लम्बे समय से शिकायत प्राप्त हो रही थी। इसे लेकर निगम प्रशासन ने बिल्डर को अवैध प्लाटिंग हटाने को लेकर नोटिस जारी किया था। इसके बाद भी मनोज राजपूत पैमाने पर यह कार्य कर रहा है। उसने निगम की नोटिस पर ध्यान भी नहीं दिया। इसलिए कलेक्टर के निर्देश पर नगर पालिक निगम दुर्ग, राजस्व विभाग दुर्ग और टाउन एवं कंट्री प्लान के अधिकारियों ने मिलकर एक संयुक्त टीम बनाई। टीम के सभी अधिकारी और कर्मचारी भारी पुलिस बल के साथ मनोज राजपूत द्वारा बसाई जा रही अवैध कॉलोनी में जा पहुंचे।

बाउंड्रीवाल को ढहाती जेसीबी

बाउंड्रीवाल को ढहाती जेसीबी

टीम को आता देख वहां हड़कंप मच गया। इससे पहले की कोई बिल्डर कुछ कर पाता टीम ने कार्रवाई शुरू कर दी। टीम ने एक साथ दो से तीन JCBचलाकर अवैध निर्माण को तोड़ना शुरू कर दिया। सबसे पहले कई लाख की लागत से बना कॉलोनी का मुख्य गेट तोड़ा गया। इसके बाद बाउंड्रीवाल को भी ढहाया गया।अवैध प्लांटिंग और बनाई गई सड़कों को हटाने का कार्य किया गया।

कार्रवाई करती टीम और मौके पर मौजूद अधिकारी व पुलिस प्रशासन

कार्रवाई करती टीम और मौके पर मौजूद अधिकारी व पुलिस प्रशासन

एक दिन पहले कार्रवाई को लेकर की गई थी तैयारी

निगम प्रशासन ने राजस्व विभाग दुर्ग और टाउन एवं कंट्री प्लान के अधिकारियों के साथ एक दिन पहले अवैध प्लाटिंग को हटाने की कार्य योजना तैयार की थी। निगम आयुक्त व एसडीएम दुर्ग ने तय योजना को तहत सुबह ही भवन अधिकारी, स्वास्थ्य अधिकारी, अतिक्रमण अधिकारी के साथ अपने पूरे अमले के साथ निगम कार्यालय में बुलाया। इसके बाद बिना किसी को कुछ बताए पूरा अमला सुबह 9 बजे अवैध प्लाटिंग की कार्रवाई करने पहंचे। कार्रवाई के दौरान तहसीलदार, निगम के भवन, स्वास्थ्य और अतिक्रमण प्रभारी के साथ मोहन नगर थाना प्रभारी, और दुर्ग थाना प्रभारी पूरी टीम के साथ महिला पुलिस बल भी मौजूद था।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest