Tuesday, October 4, 2022

बिलासपुर पानी-पानी मोहल्ले जलमग्न घरों में घुसा पानी देखें वीडियो

More articles


बिलासपुर। बुधवार की सुबह हुई तेज वर्षा ने नगर निगम के तमाम दावों की पोल खोलकर रख दी है। आधा शहर पानी-पानी हो गया। एक दर्जन से ज्यादा मोहल्ले जलमग्न हो गए। प्रमुख सड़कों में आधा से एक फीट तक पानी भर गया। कई मोहल्ले में घरों के अंदर पानी घूस आया। नगर निगम प्रबंधन शहर में जलभराव की समस्या से निपटने के लिए हर साल लाखों स्र्पये खर्च कर रहा है। इस बार भी जलभराव की समस्या दूर करने के लिए लाखों स्र्पये खर्चकर नाली-नाले निर्माण किए गए।

साथ ही पुराने नालों की सफाई और जलभराव से निपटने के लिए अस्थाई निस्तारी मार्ग बनाए गए। इसके बाद निगम प्रबंधन दावा कर रहा था कि इस बार जलभराव की समस्या नहीं होगी। लेकिन बुधवार की भोर तेज वर्षा ने निगम के दावे की पोल खोलकर रख दी। वर्षा के बाद जगह-जगह जलभराव की समस्या देखी गई। तेज वर्षा के दौरान लोग घरों में सोए हुए थे।

इसी दौरान कई जगह घर के अंदर तक पानी आ गया। इसमे मित्र विहार और सर्वमंगला कालोनी प्रमुख हैं। जहां लोगों को सुबह उठते ही इस समस्या का सामना करना पड़ा। इसी तरह विनोबा नगर, अज्ञेय नगर की सड़कें पानी से लबालब हो गईं। साथ ही कुछ घरों में पानी घुस आया। इसी तरह श्रीकांत वर्मा, लिंक रोड, पुराना बस स्टैंड चौक, निराला नगर, कश्यप कालोनी, कुदुदंड की निचली बस्ती, मन्न्डोल तिफरा के साथ सरकंडा में कई जगह सड़कें पूरी तरह से जलमग्न हो गईं। इसने सुबह से ही लोगों के लिए आफत खड़ कर दी।

ये क्षेत्र हुए प्रभावित

भारतीय नगर, जरहाभाठा, शांति नगर, विनोबा नगर, अज्ञेय नगर, अशोक नगर सरकंडा, जोरापारा सरकंडा, मित्र विहार, कश्यप कालोनी, पुराना बस स्टैंड चौक, निराला नगर, कुदुदंड निचली बस्ती, श्रीकांत वर्मा मार्ग, हंसा विहार, तिफरा मन्न्डोल आदि।

घरों में घुसे जहरीले जंतु

तेज वर्षा से जमीन के नीचे रहने वाले जहरीले जीव-जंतु जैसे सांप, बिच्छू, कनखजूरा आदि बाहर निकल आए। ऐसे में जगह-जगह इनका आंतक देखने को मिला है। ये जहरीले जंतु घरों में घुस रहे हंै। इससे लोगों में भय व्याप्त रहा है। इसने छोटे बच्चों के लिए खतरे की घंटी बजा दी है।

शहर की सभी नालियां ओवरफ्लो

वर्षा के दौरान शहर की लगभग सभी नालियां ओवरफ्लो हुई हैं। जबकि निगम ने दावा किया था कि नालियों की तह तक सफाई की गई है। इस बार नाली ओवरफ्लों नहीं होगी और पानी आसानी से निकल जाएगा। लेकिन यह दावा भी फेल हो गया है। नालियों के ओवरफ्लो होने की वजह से मोहल्लों में जलभराव की समस्या बढ़ी है। वर्षा रुकने के बाद भी नालियां घंटाें ओवरफ्लों होती रहीं। इसकी वजह से भी पानी को निकलने में समय लगा।

Posted By: Abrak Akrosh

 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest