Friday, September 30, 2022

बिलासपुर कलेक्टर के निर्देश- अस्पताल और स्कूलों का निरीक्षण कर व्यवस्था करें दुरुस्त

More articles


Publish Date: | Tue, 12 Jul 2022 05:45 PM (IST)

बिलासपुर। कलेक्टर सौरभ कुमार ने मंगलवार को समय सीमा की बैठक में राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं और विकास कार्यों की प्रगति के संबंध में विस्तार से चर्चा की। उन्होंने कहा कि अस्पताल और स्कूलों के बेहतर संचालन के लिए पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित होनी चाहिए। उन्होंने संबंधित अधिकारियों तथा सभी अनुविभागों के एसडीएम को समय-समय पर व्यवस्थाओं का जायजा लेने के भी निर्देश दिए ताकि आम जनता और बच्चों को बेहतर स्वास्थ्य एवं शिक्षा की सुविधाएं मिल सके।

जिले के सभी गोठानो के प्रगति की समीक्षा की तथा रीपा के अंतर्गत आजीविका गतिविधि बढ़ाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि गोठानों में फेंसिंग निर्माण, वेल्डिंग मशीन लगाकर भी की महिलाओं को रोजगार दिया जा सकता है। उन्होंने मांग और नवाचार के अनुरूप आजीविका गतिविधि बनाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। कलेक्टर ने राजीव गांधी आश्रय योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि योजना के अंतर्गत ज्यादा से ज्यादा लोगों को पट्टा मिलना चाहिए। कलेक्ट सौरभ कुमार ने जनहित के कार्यों को सर्वाेच्च प्राथमिकता देने के निर्देश दिए।

जन स्वास्थ्य के मुद्दों को प्राथमिकता में लेते हुए उसका तत्काल निराकरण करें और सभी अधिकारी टीम भावना के साथ काम करते हुए क्षेत्र की जनता को लाभान्वित करें। ग्रामीण क्षेत्रों में शासन की योजनाओं को पहुंचाने के लिए मैदानी कर्मचारी नियमित तौर पर निरीक्षण करते हुए ग्रामीणों की समस्याओं का तत्काल निराकरण करें। उन्होंने कहा कि आम जनता, ग्रामीणों और किसानों को सहूलियत देना शासन का लक्ष्य है। कलेक्टर ने भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के प्रगति के संबंध में जानकारी ली तथा हितग्राहियों की शत-प्रतिशत एंट्री करने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

रोका-छेका अभियान की समीक्षा करते हुए उन्होंने ज्यादा आवागमन वाले मुख्य सड़कों पर अभियान चलाने के निर्देश दिए। इसी प्रकार उन्होंने मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन स्वामी आत्मानंद स्कूल योजना योजना, लोक सेवा गारंटी, धान के बदले अन्य फसल योजना आदि की विस्तार से समीक्षा करते हुए समय-सीमा में बेहतर कार्य करने के लिए अधिकारियों को प्रोत्साहित किया। स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल की प्रगति की जानकारी लेते हुए अपूर्ण कार्य को समय-सीमा में गुणवत्ता के साथ पूरा करने के भी निर्देश दिये।

राजस्व प्रकरणों की खत्म करें पेंडेंसी

कलेक्टर ने राजस्व प्रकरणों, अविवादित नामांतरण, विवादित नामांतरण, सीमांकन एवं बंटवारा, व्यपवर्तन, नक्शा-बंटाकन, डिजीटल हस्ताक्षर, खाता विभाजन, नजूल पट्टा आदि लंबित प्रकरणों की समीक्षा की। उन्होंने लंबित राजस्व प्रकरणों के समय-सीमा में त्वरित निराकरण के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये। कलेक्टर ने कहा कि राज्य में डायवर्सन के संपूर्ण अधिकार एसडीएम को दिया है। ऐसे प्रकरण जिले में नहीं आने चाहिए। उन्होंने डायवर्सन पोर्टल और भुइयां पोर्टल में एकरूपता लाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि डायवर्सन के बाद इसका रिकार्ड भुइयां पोर्टल में भी दिखना चाहिए ताकि कोई असमानता न रहे।

कलेक्टर ने अतिक्रमण संबंधी प्रकरणों का समय-सीमा में निराकरण कर व्यवस्थापन करने के निर्देश भी संबंधित अधिकारियों को दिए। उन्होंने सरकारी खसरे की जमीन जिसमें अतिक्रमण नहीं हुआ है, उसे सूचीबद्ध करते हुए वेबसाइट में एंट्री करने के निर्देश दिए ताकि ताकि ऐसे प्रकरणों का समुचित निपटारा किया जा सके। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती जयश्री जैन, वनमंडलाधिकारी कुमार निशांत, नगर निगम आयुक्त अजय त्रिपाठी, सहित सभी जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।

Posted By: Abrak Akrosh

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest