Wednesday, October 5, 2022

बाल्को स्मेल्टर भारत में सबसे अधिक ऊर्जा कुशल संयंत्रों में से एक

More articles


Publish Date: | Wed, 13 Jul 2022 12:53 AM (IST)

कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। वेदांता समूह की कंपनी भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बाल्को) वर्ष 2050 तक कार्बन उत्सर्जन को शून्य करने की प्रतिबद्धता के अनुरूप अपने संचालन को कार्बन रहित करने के लिए मजबूत कदम उठा रही है। वित्त वर्ष 2022 में बाल्को ने 22085 गीगा जूल की उर्जा बचत की। इस उपलब्धि पर बाल्को के मुख्य कार्यकारी अधिकारी व निदेशक अभिजीत पति ने कहा कि हमारा एल्यूमिनियम स्मेल्टर भारत में सबसे अधिक उर्जा कुशल संयंत्रों में से एक है और उर्जा के बेंचमार्क को आगे बढ़ाने के लिए कटिबद्ध हैं।

उर्जा संरक्षण के उद्देश्य से बालको ने अपने कास्ट हाउस में स्पेसिफिक हैवी फ्यूल आयल (एचएफओ) की खपत को 10 प्रतिशत कम करने तथा उर्जा खपत (उत्पादन के एक इकाई में उपयोग उर्जा) को 15 प्रतिशत तक कम और वित्त वर्ष 2022 में इनगाट कास्टिंग मशीन में 20 तथा वायर राड मिल मशीन में 31 प्रतिशत तक स्क्रैप जनरेशन को कम किया है। स्क्रैप उत्पादन कम होने से रीमेल्टिंग प्रक्रिया में कमी से उर्जा की खपत कम हुई। बाल्को बायोमास ब्रिकेट्स के साथ थर्मल पावर उत्पादन के लिए अपने ईंधन मिश्रण को हरित कर रहा है। इसमें सालाना 0.43 मिलियन टन सीओ-टू समकक्ष जीएचजी उत्सर्जन को कम करने की क्षमता है। वर्षों से पर्यावरण और उर्जा संरक्षण में सक्रियता के परिणामस्वरूप वैश्विक बेंचमार्क के अनुसार बाल्को की करेंट इफीसिएंसी, भारत के एल्यूमिनियम बिजनेस में उसके समकक्षों के बीच पाटलाइन में कुल डीसी व एसी बिजली की खपत सबसे कम होने की वजह से उर्जा बचत हुई। बाल्को के मुख्य कार्यकारी अधिकारी व निदेशक अभिजीत पति ने कहा कि सतत् व्यापार विकास के प्रति प्रतिबद्धता में, उर्जा संरक्षण के उच्चतम मानकों को प्राप्त करने में महत्वपूर्ण कदम है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण, सामुदायिक उत्तरदायित्व, गवर्नेस और नवाचार के उच्चस्तरीय मानदंडों को अपनाकर कार्बन फुट प्रिंट कम करना तथा आने वाली पीढ़ियों के लिए एक स्थायी भविष्य बनाने के लक्ष्‌य को प्राप्त करना है। बाल्को प्रबंधन हरित एवं उज्ज्वल भविष्य निर्माण की दिशा में योगदान दे रहा है।

0 प्रचालनों में अत्याधुनिक स्मार्ट तकनीकों को प्रोत्साहन देता है बाल्को

बाल्को कास्ट हाउस में बिजनेस पार्टनर मेसर्स व्रजेश्वरी एलएलपी कंपनी व साइट इंचार्ज के तौर पर कार्यरत प्रियव्रत सिन्हा ने कहा कि पर्यावरण के प्रति प्रतिबद्धता वाली कंपनी के रूप में बाल्को अपने कास्ट हाउस में हमेशा उर्जा संरक्षण से जुड़े प्रयासों के सफल कार्यान्वयन, बिजली बचत, एचएफओ और अन्य उर्जा खपत को कम करने के उद्देश्य से तरीकों को सुधारने और खोजने का प्रयास करता है। बाल्को अपने प्रचालनों में अत्याधुनिक स्मार्ट तकनीकों को प्रोत्साहन देता है।

फाइव स्टार केटेगरी में बाल्को को मिला कलिंगा एनवायरमेंट एक्सीलेंट अवार्ड

उर्जा और पर्यावरण संरक्षण की दिशा में समर्पित प्रयास के लिए बालको को कई प्रतिष्ठित पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है। वर्ष 2022 में बालको ने सर्वोत्तम परिचालन प्रथाओं के कार्यान्वयन के माध्यम से करेंट इफीसिएंसी और बिजली की खपत जैसे मानकों के तहत, भारतीय और खाड़ी स्मेल्टरों में पाटलाइन-एक द्वारा प्राप्त बेंचमार्क प्रदर्शन के लिए आईएमसी पुरस्कार जीता है। फाइव स्टार कटेगरी में बाल्को को प्रतिष्ठित कलिंगा एनवायरमेंट एक्सीलेंस अवार्ड मिला है, जो भारत सरकार के पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय और राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड तथा राज्य पर्यावरण प्रभाव आंकलन प्राधिकरण द्वारा संगठन में सरकार के विभिन्ना अधिनियमों और नियमों के तहत किए गए योगदान को मान्यता देता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest