Sunday, October 2, 2022

नकाबपोशों ने सरपंच के घर में की लूट: काली वर्दी पहने, लाल सलाम जिंदाबाद के नारे लगाते घुसे;नक्सलियों के डर से अभी तक FIR नहीं

More articles


दंतेवाड़ा29 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

डमी फोटो- दंतेवाड़ा में 7 दिन में ऐसी ही लूट की दूसरी वारदात।

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले के एक गांव में सरपंच के घर में लूट हुई है। बताया जा रहा है कि नक्सली बनकर करीब 10 से 15 लोगों ने वारदात को अंजाम दिया है। काली वर्दी पहनकर लाल सलाम जिंदाबाद के नारे लगाते घर में घुस गए और सरपंच की पत्नी से पैसे लूट लिए। कितने पैसे लूटे गए हैं फिलहाल यह अभी स्पष्ट नहीं है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। मामला जिले के कुआकोंडा थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, जिले के नक्सल प्रभावित मोखपाल गांव के सरपंच विनोद सोरी के घर बुधवार देर रात लूट की वारदात हुई है। अचानक 10 से 15 नकाबपोश लोग घर में घुस गए थे। सरपंच किसी काम से घर के बाहर थे, पत्नी घर पर अकेली थी। नकाबपोश हाथ में हथियार जैसा कुछ पकड़े हुए थे। सरपंच की पत्नी को धमकाया और तिजोरी में रखे सारे पैसे निकाल लिए। फिर जंगल की ओर सभी चले गए। पत्नी ने फोन कर अपने पति को लूट की जानकारी दी थी। नक्सलियों की दहशत की वजह से सरपंच ने लूट की जानकारी पुलिस को नहीं दी थी।

हल्बारास गांव में भी हुई लूट
करीब सप्ताहभर पहले कुआकोंडा थाना क्षेत्र के नक्सल प्रभावित हल्बारास गांव में भी एक घर में लूट की वारदात हुई है। वहां भी इसी तरह काली वर्दी पहनकर रात के अंधेरे में एक घर में लूट की वारदात को अंजाम दिया गया है। जिनके घर लूट हुई है उन्होंने अब तक इसकी जानकारी पुलिस को नहीं दी है। बताया जा रहा है कि, काली वर्दी पहने 10 से 15 लोगों ने गांव के सचिव का भी पता पूछा था।

फर्जी नक्सली होने का हुआ शक, तो पुलिस को की खबर
दो गांवों में एक जैसी लूट की वारदात होने पर गांव वालों को फर्जी नक्सली होने का शक हुआ। जिसके बाद सरपंच विनोद ने कुआकोंडा थाना में शनिवार शाम फोन कर लूट की जानकारी दी। कुआकोंडा थाना प्रभारी खोमन भंडारी ने बताया कि सरपंच को थाना बुलाया गया था, लेकिन वे नहीं आए। पुलिस सरपंच के घर जाकर मामले की जांच करेगी। हल्बारास में भी लूट की खबर है, लेकिन कोई कुछ बता नहीं रहा है। FIR भी नहीं हुई है। लूट की वारदात को फर्जी नक्सली अंजाम दे रहे हैं या असली यह जांच के बाद पता चलेगा।

सरपंच और सचिव टारगेट में
दरअसल, नक्सली बनकर सरपंच के घर में लूट करने का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी जिले के झोड़ियाबाड़म गांव के सरपंच के घर में लूट हो चुकी है। वारदात के कई महीने बीत जाने के बाद भी पुलिस आरोपियों को पकड़ने में नाकाम साबित हुई है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest