Friday, September 30, 2022

दीपावली-होली पर फ्री LPG सिलेंडर देने पर CM योगी का बड़ा बयान, जानिए किन्हें मिलेगा लाभ

More articles


Gorakhpur News: मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ (Yogi Adityanath) ने गोरखपुर (Gorakhpur) को विकास की सौगात दी. उन्‍होंने मंगलवार को 463.60 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्‍यास और लोकार्पण किया. इस अवसर पर उन्‍होंने कहा कि वे मंगलवार को वे गुरु पूर्णिमा के एक दिन पूर्व गोरखपुर के लोगों को परियोजनाओं की सौगात देने आए हैं. शिक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य, सड़क और बाढ़ से बचाव के उपाय के लिए हर विधानसभा क्षेत्र में विकास की सौगात मिल रही है. 

उन्‍होंने कहा कि यूपी में पांच साल में चहुंमुखी विकास के साथ एक भी दंगे नहीं हुए हैं. सड़क पर किसी भी तरह के धार्मिक आयोजनों की अनुमति नहीं दी गई. किसी को भी तेज आवाज में लाउडस्‍पीकर बजाने की अनुमति नहीं दी गई. जिन्‍हें आयोजन करने थे, वे लोग भी अनुमति लेने के बाद ही आयोजन कर पाए. हमें कानून के दायरे में रहकर कार्य करने की जरूरत है.

फ्री सिलेंडर पर कही ये बात
एक करोड़ लोगों को जिन्होंने कभी भी ग्रीन ईंधन के रूप में एलपीजी सिलेंडर के दर्शन नहीं किए थे, उन्हें फ्री में कनेक्शन दिया गया. फ्री में कनेक्शन उपलब्ध होने के बाद अब सरकार ने यह भी तय किया है कि दीपावली और होली के अवसर पर उन्हें एलपीजी का सिलेंडर सरकार के द्वारा फ्री में उपलब्ध करवाने का कार्य भी कराया जाएगा. मेरी आप सब से अपील होगी कि आज गोरखपुर विकास की एक नई ऊंचाइयों को छू रहा है. गोरखपुर के जितने भी उपेक्षित फर्टिलाइजर कारखाना को चलाने का प्रारंभ हो चुका है. एम्स न केवल स्थापित हुआ है, बल्कि यहां पर अपनी उपचार की सुविधा गोरखपुरवासियों को उपलब्ध करा रहा है. गोरखपुर की सड़कों के चौड़ीकरण का कार्य हो या विकास की छोटी बड़ी योजनाएं बाढ़ से बचाव, शिक्षा से जुड़ी हुई थी. इन सभी को आगे बढ़ाने का कार्य किया है.

कई योजनाओं का हुआ शिलान्यास और लोकार्पण
सीएम योगी आदित्‍यनाथ गोरखपुर के गोरखपुर क्‍लब में विकास की 463.60 की विकास की परियोजनाओं का शिलान्‍यास और लोकार्पण किया. इसमें 298 करोड़ 81 लाख 72 हजार रुपए की 181 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और 164 करोड़ 77 लाख 95 हजार की 27 परियोजनाओं का शिलान्‍यास किया. इसमें बाढ़ से बचाव, सड़क, बंधों के सुंदरीकरण के साथ विकास के अनेक कार्य सम्मिलित हैं. इस अवसर पर उन्‍होंने विभिन्‍न योजनाओं के लाभार्थियों को लाभान्वित किया और बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से बच्‍चों द्वारा लगाए गए स्‍टाल का अवलोकन भी किया. उन्‍होंने दिव्‍यांगों को ट्राई साइकिल और हेलमेट भ‍ी वितरित किया.

क्या बोले सीएम योगी?
सीएम योगी ने कहा कि गरीबों को व्यवस्थित रूप से योजनाओं के साथ जोड़ करके उनके जीवन की मुख्‍य धारा में लाया जाए. इस कार्यक्रम को आगे बढ़ाने का कोई भी ईमानदार प्रयास इससे पहले नहीं हो पाया था और इसी का परिणाम था कि योजनाएं तो बनती थी, लेकिन जिस तबके के लिए ये योजनाएं बनती थी, उस योजना के बारे में कोई जानकारी नहीं होती थी. 463.60 करोड़ लाख रुपए की लागत से जो परियोजनाएं पूरी हो चुकी हैं या जिन्हें पूरा होना है. 

उन्‍होंने कहा कि कोरोना के काल में पीएम नरेन्द्र मोदी मार्गदर्शन और नेतृत्व दे रहे थे. मुझे उत्तर प्रदेश के अंदर सेवा का अवसर मिला. उत्तर प्रदेश के अंदर हम लोगों ने भी पूरी इमानदारी और पूरी प्रतिबद्धता के साथ जनता-जनार्दन के जीवन को बचाने का काम भी किया. उनकी जीविका को बचाने के लिए भी भरसक प्रयास किए जा चुके हैं. निशुल्‍क वैक्‍सीन और राशन की सुविधा दी और बाकी महीने में दो-दो बार उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य है. जिसने फ्री में राशन के साथ दाल, तेल, नमक और अंत्‍योदय परिवार को चीनी उपलब्ध करवाने का कार्य करना है.

Hardoi News: एक महीने की बेटी का शव लिए न्याय की गुहार लगाने थाने पहुंची मां, पुलिसवालों ने गाली-गलौज कर भगाया

अर्थव्यवस्था को लेकर कही ये बात
सीएम ने कहा कि सरकार पैसा खर्च करती है. इसकी स्वच्छता-सुंदरता इनके संरक्षण का दायित्व भी हमारा है. हम इस कार्यक्रम के साथ जुड़ेंगे, तो सचमुच आपका शहर और आपका प्रदेश धीरे-धीरे करके फिर से देश के अंदर अग्रणी राज्यों में अपना स्थान बनाएगा. उस दिशा में एक सामूहिक प्रयास किए जाने की आवश्यकता है. प्रत्येक परिवार अपने परिवार के साथ एक पेड़ परिवार के नाम पर लगाएं और उसका संरक्षण करें. 

आज उत्तर प्रदेश देश के अंदर तेजी के साथ बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था के रूप में अपना स्थान बना रहा है. यहां पर मौसम के लिए रोजगार अन्नदाता किसान का सम्मान भी है. इनको गरीब कल्याणकारी योजनाओं का लाभ भी बिना भेदभाव के समाज के प्रत्येक तबके, जाति, धर्म के लोगों को दिया जा रहा है.

दिमागी बुखार का था खौफ
सीएम योगी ने कहा कि जुलाई का महीना है, गोरखपुर में 1977 से लेकर अब तक जुलाई से लेकर नवंबर तक हमेशा दिमागी बुखार से खौफ रहता था. तीन महीने तक लोग सशंकित रहते थे. हजारों बच्‍चे काल के गाल में समा गए. हमारी सरकार ने दिगामी बुखार में होने वाली मौतों के केस को 95 फीसदी तक कम कर दिया है. सभी विभागों और आमजन के सामूहिक प्रयास से हम दो साल में 5 प्रतिशत को भी जड़ से खत्‍म कर देंगे. लेकिन लोगों को इसके प्रति अभी भी सचेत रहने के साथ साफ-सफाई का विशेष ध्‍यान देना होगा. हम इंसेफेलाइटिस को जड़ से खत्‍म कर देंगे.

सरकार इस अवसर पर विद्यालयों को ध्यान में रखकर के विकास, पंचायती राज, नगर विकास, शिक्षा, स्वास्थ्य विभाग और सभी संबंधित विभागों को जोड़कर के अपनी विस्तृत कार्ययोजना के साथ इस कार्यक्रम के साथ जुड़ रही हैं. आजादी का अमृत महोत्‍सव वर्ष मनाया जा रहा है. कार्यक्रम में एक संकल्प यह भी होगा कि भारत कि तिरंगा हमारी आन-बान-शान का प्रतीक है. तिरंगा हर घर पर लहराएगा. 

एक सप्ताह होगा ये खास कार्यक्रम
हर व्यक्ति का दायित्व बनता है कि 11 से 17 अगस्‍त तक एक सप्ताह के लिए अपने घरों पर भारत के आन-बान और शान का प्रतीक तिरंगा लहराने की तैयारी अभी से शुरू कर दें. तिरंगा अभिषेक खरीदना और अपने-अपने घरों में लगाने की व्यवस्था सम्मानजनक ढंग से लगाने में सहभागी बने. उत्तर प्रदेश की कार्यपद्धति को देखें. प्रदेश आज एक नई उत्तर प्रदेश के रूप में दिखाई दे रहा है.

ये भी पढ़ें-

Unnao News: मासूम को टीचर ने 30 सेकेंड में मारे 10 थप्पड, होमवर्क नहीं पूरा होने पर घसीटकर मारा, Video वायरल



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest