Friday, September 30, 2022

दिल्ली में पकड़ाया CG में ऑनलाइन फ्रॉड करने वाला गैंग: 80 लाख रुपए के लालच में वनकर्मी ने गंवाए 25 लाख रुपए, तीन गिरफ्तार

More articles


बिलासपुर38 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह को पुलिस ने पकड़ा है।

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को पुलिस ने दिल्ली से गिरफ्तार किया है। दरअसल, ठगों ने वन कर्मी को 80 लाख रुपए बीमा राशि दिलाने के नाम पर अलग-अलग बहाने से 25 लाख रुपए का चूना लगाया था। लालच में फंसकर वनकर्मी ने 25 लाख रुपए उनके खातों में ऑनलाइन ट्रांक्जक्शन कर दिया था। पुलिस ने केस दर्ज करने के बाद गिरोह के तीन आरोपियों को पकड़ लिया है। उनके पास से रुपए बरामद नहीं हो सके हैं। मामला सिविल लाइन थाने का है।

पुलिस के अनुसार सिविल लाइन क्षेत्र के मगरपारा निवासी विनोद कुमार ध्रुव (52) वन विभाग में पदस्थ हैं। उनके मोबाइल पर 4 नवंबर 2021 को अनजान नंबर से कॉल आया। फोन करने वाले ने बताया कि वह बीमा कंपनी का अधिकारी है। उन्होंने जो बीमा कराया है, उसकी प्रीमियम और मेच्यूरिटी की राशि 80 लाख रुपए आया है और उनकी पत्नी के नाम से भी बीमा राशि डेढ़ लाख रुपए आया है। बीमा राशि मिलने की बात सुनकर वन कर्मी लालच में आकर ठग की बातों में फंस गए और पाने का तरीका पूछा।

अलग-अलग बहाने से जमा कराए रुपए
वनकर्मी ने पुलिस को बताया कि फोन करने वाले कथित बीमा कंपनी के अधिकारी ने पहले उन्हें 30 हजार रुपए RTGS कराया। इसके बाद सर्विस टैक्स, इनकम टैक्स सहित अलग-अलग शुल्क बताकर अलग-अलग बैंक अकाउंट में करीब 25 लाख रुपए जमा करा लिया। इतनी बड़ी राशि जमा करने के बाद भी उनसे अतिरिक्त रुपए जमा करने कहा गया, तब उन्हें ठगी का अहसास हुआ और थाने में केस दर्ज कराया।

दिल्ली में दबिश देकर तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार
TI परिवेश तिवारी ने बताया कि बीते 2 जून को वनकर्मी विनोद ध्रुव की रिपोर्ट पर धोखाधड़ी का केस दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू की। इस दौरान पुलिस की साइबर सेल की मदद से आरोपियों की जानकारी जुटाई गई। जांच में पता चला कि ऑनलाइन ठगी करने वाले इस गिरोह के सदस्य दिल्ली में रहकर दूसरे प्रदेशों के लोगों को कॉल कर बीमा कंपनी का बोनस राशि दिलाने का झांसा देकर ठगी करते हैं। उनकी जानकारी मिलने के बाद पुलिस की टीम ने दिल्ली में उनके ठिकानों पर दबिश दी। इस दौरान पुलिस ने दिल्ली के रोहिणी से आरोपी शाहबाज आलम पिता मो. इशा (30 साल), प्रिंस कुमार सिंह पिता सुरेंद्र (22 साल) और अर्पित कुमार श्रीवास्तव पिता अरुण (25 साल) को गिरफ्तार किया है।

आरोपियों के बैंक अकाउंट को कराया होल्ड
पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों से कम्प्यूटर के CPU, स्कैनर, 15 चेक बुक, पांच पासबुक और मोबाइल वगैरह जब्त किया है। हालांकि, जांच में आरोपियों से ठगी की रकम बरामद नहीं हो सका है। पुलिस ने बताया कि आरोपियों के विभिन्न बैंक अकाउंट को होल्ड करा दिया है। ताकि, उसमें जमा रकम को पीड़ित वनकर्मी को मुहैया कराई जा सके। अभी यह भी पता नहीं चला है कि उनके अकाउंट में कितना रकम है। पुलिस इन आरोपियों को रिमांड में लेकर पूछताछ कर रही है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest