Tuesday, October 4, 2022

जिले में 6.3 लाख युवा इनमें से नौ फीसद जूझ रहे बेरोजगारी से

More articles


Publish Date: | Sun, 12 Jun 2022 11:11 PM (IST)

कोरबा (नईदुनिया न्यूज)। जिला रोजगार पंजीयन कार्यालय में 18 से 45 वर्ष 68 हजार 912 युवा बेरोजगार है। यह संख्या जिले की कुल आबादी का नौ फीसद है। जिले में कौशल उन्नायन, लाइवलीहुड कालेज का संचालन हो रहा है। प्रति माह दो माह के अंतराल में रोजगार मेले का आयोजन हो रहा, जिसमें बड़े उद्योगों की भागीदारी नहीं है। ऐसे में औद्योगिक नगरी होने के बाद भी युवाओं में रोजगार की तालाश खत्म होने का नाम नहीं ले रहा।

जिले के रोजगार एवं पंजीयन दफ्तर में पंजीकृत बेरोजगारों के लिहाज से जिला 16 वें स्थान पर है। विभाग लगातार उन्हें उनके कौशल के अनुरूप काम उपलब्ध कराने लगातार प्रयास कर रही है, पर त्वरित सूचना और तकनीकी अड़चनों के चलते ही बड़ी संख्या में जरूरतमंद युवाओं को रोजगार दिलाने की दिशा में व्यापक प्रयास नहीं हो पा रहा। विभाग का दावा है कि वे यहां युवाओं को शिक्षा और रोजगार के प्रति तैयार करने की ओर हर संभव प्रयास करते हुए अग्रसर हैं। सरकार की योजनाओं के तहत जिला रोजगार कार्यालय को करियर सेंटर के रूप में विकसित किया गया है। इसके तहत पंजीयन जाब सर्च प्लेसमेंट कैंप की जानकारी बड़ी कंपनियों को कैंपस सलेक्शन के लिए आफर की जानकारी हाईटेक तरीके से दी जा रही है। इसके अलावा बेरोजगारों को उनकी योग्यता के अनुसार जाब दिलाने के लिए काउंसलर की भी व्यवस्था की गई है। वह योग्यता के अनुसार बेरोजगारों का मार्गदर्शन करते हुए समय-समय पर उनके योग्यता के अनुरूप नौकरी की जानकारी मोबाइल व ई-मेल के सहारे दे रहे हैं। इसका जमीनी धरातल पर क्रियांवयन नहीं हो रहा।आने वाले दिनों में पूरे देश में निकलने वाली नौकरी की जानकारी युवाओं को उपलब्ध कराई जाएगी। इससे उन्हें बेहतर अवसर मिलेगा। अफसरों के मुताबिक ट्रेकिंग सिस्टम के तहत बच्चे ही कई तरह की जानकारी नहीं दे रही है। बच्चे ही ट्रैकिंग सिस्टम के दौरान नौकरी से जुड़ी हुई जानकारी छिपा रहे हैं जिसके चलते पंजीयन दफ्तर के कर्मचारियों को परेशानी हो रही है।

यहां रजिस्ट्रेशन-वेरीफिकेशन की प्रक्रिया को जानें

पोर्टल में करियर काउंसिल टूल का विकल्प दिया गया है। इसमें मोबाइल नंबर का पंजीयन कर बेरोजगार अपनी योग्यता व रुचि अपलोड कर सकते हैं। काउंसलर नई भर्ती की जानकारी होने पर पसंद को ध्यान में रखते हुए उम्मीदवार को सूचित करता है। इससे घर बैठे मनचाही नौकरी मिल रही है। इसके लिए जरूरतमंद रोजगार पंजीयन दफ्तर की सीजी नाइस इंपोलाइमेंट पोर्टल पर जाकर आनलाइन रजिस्टर्ड करा सकते हैं। पर इसके लिए शर्त है कि इन बच्चों को दफ्तर पहुंचकर 15 दिन के भीतर वेरीफिकेशन कराना अनिवार्य है। तभी उन्हें करियर की दिशा में आगे बढ़ने के लिए उनके मनपसंद आप्शन मिलने की बात है।

काउंसिलिंग लें, जागरुक और हाईटेक बनें

इस मामले में कंप्यूटर साइंस के प्राध्यापक अनिल राठौर का कहना है कि केवल शासकीय सेवा में ही करियर की तलाश एकमात्र विकल्प नहीं। आज के युवाओं को हाईटेक और खासकर सूचना विज्ञान में अत्यधिक जागरुक होने की जरूरत है। इसमें दक्ष होना उन्हें अपनी इच्छा और कौशल के अनुरूप जाब ढूंढ़ने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगी। प्रदेश से लेकर देश-दुनिया में काम की कमी नहीं, जरूरत है उसे सही दिशा में प्रयास जारी रख हासिल करने की। दूसरी ओर स्कूल-कालेजों से ही बच्चों को सही मार्ग बताते हुए करियर गाइडनेस की जरूरत है। यह भी बेरोजगारी बढ़ने का एक प्रमुख कारक है। बच्चों में कौशल के स्वरूप को पहचानकर उन्हें आगे बढ़ाना ही उनके जाब के लिए अहम माना गया है। ज्यादातर संस्थाओं ऐसीर व्यवस्था नहीं होने के चलते आगे जाकर जाब के लिए बच्चे परेशान होते हैं।

फैक्ट फाइल

जिले की कुल आबादी- 14 लाख

18 से 45 वर्ष के युवा- छह लाख 30 हजार

युवाओं का ग्राफ- 45 फीसद

रोजगार दफ्तर में दर्ज- 68912

कुल युवाओं में बेरोजगार- दौ फीसद

———-

Posted By: Nai Dunia News Network

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest