Sunday, October 2, 2022

एक शिक्षक का छात्रों के प्रति अपेक्षित व्यवहार क्या है

More articles


Publish Date: | Sun, 12 Jun 2022 11:20 PM (IST)

कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। एक शिक्षक का छात्रों के प्रति अपेक्षित व्यवहार क्या है, बाल विकास के अध्ययन का क्षेत्र कौन सा है, विद्यार्थियों के लिए सर्वाधिक महत्वपूर्ण गुण कौन सा है, नई शिक्षा नीति का उद्देश्य क्या है, जैसे प्रश्न रविवार को आयोजित प्री बीएड व प्री डीईएलएड परीक्षा में पूछे गए। दो पालियों में आयोजित परीक्षा के पहली पाली में 1675 और दूसरी पाली 1494 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे।

व्यवसायिक शिक्षा मंडल के तत्वावधान के आयोजित परीक्षा में सुबह से ही शहर भर में गहमा-गहमी का का माहौल रहा है। सुबह 10 से 12.15 बजे तक पहली पाली में प्री बीएड की परीक्षा आयोजित हई। परीक्षा के लिए 20 केंद्र बनाया गया था। 3381 परीक्षार्थियों ने पंजीयन कराया था जिसमें 4955 परीक्षार्थी उपस्थित रहे। दूसरी पाली में प्री डीइएलएड की परीक्षा आयोजित हुई। बीएड की तुलना में सीमित परीक्षार्थी होने की वजह से 12 केंद्र बनाए गए थे। दोपहर दो बजे से 4.15 बजे तक आयोजित परीक्षा में तीन हजार 381परीक्षार्थियों ने पंजीयन कराया था। इनमें दो हजार 387 परीक्षार्थी ही उपस्थित रहे। सभी केंद्रों में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए थे। परीक्षा कक्ष में कैल्कुटेर, मोबाइल आदि का ले जाना वर्जित था। दोनो ही परीक्षा में ऋ णात्मक मूल्यांकन नहीं होने से परीक्षार्थियों उन प्रश्नों का भी उत्तर चिन्हांकित किया जिसकी उन्हे जानकारी नहीं थी। नकल प्रकरण को रोकने के लिए उड़नदस्ता टीम भी गठित की गई थी। परीक्षा के नोडल अधिकारी एचआर मीरेंद्र ने बताया कि किसी भी केंद्र में नकल प्रकरण दर्ज नहीं किया है। ईवी पीजी स्नातकोत्तर महाविद्यालय को नियंत्रण कक्ष बनाया गया था। परीक्षा के उपरांत उत्तर पुस्तिकाओं को जिला कोषालय के स्ट्रांगरूम में जमा किया किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest