Monday, October 3, 2022

एंकर 7 दिन में रायपुर के थाने में हाजिर हों: न्यूज चैनल दफ्तर पर चस्पा किया नोटिस; रोहित को ले जाने वाले पुलिसकर्मियों की शिकायत

More articles


रायपुर26 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ की पुलिस एंकर रोहित रंजन को नहीं पकड़ पाई। गिरफ्तार करने के लिए पहुंची छत्तीसगढ़ पुलिस की टीम के सामने ही चकमा देकर नोएडा पुलिस रोहित रंजन को ले गई। उसे गिरफ्तार किया गया और फिर जमानत दे दी गई। इसके बाद रोहित कहां है, इसका पता किसी को नहीं है। दूसरी ओर रायपुर पुलिस ने रोहित को फरार घोषित कर दिया है। इस दौरान रायपुर पुलिस न्यूज चैनल के दफ्तर पहुंची और वहां रोहित के थाने हाजिर होने का नोटिस चस्पा कर दिया।

रायपुर पुलिस के डीएसपी उदयन बिहार ने बताया नोटिस चैनल के प्रोड्यूसर उसको देना चाहा। इसमें जो रायपुर पुलिस ने जानकारी मांगी कि विवादित शो में वीडियो क्लिप कहां से हासिल की गई। किसने कंटेंट तैयार किया, मगर इस नोटिस को लेने से न्यूज़ चैनल वालों ने इंकार कर दिया। ऐसे में रायपुर की पुलिस ने चैनल दफ्तर के बाहर ही इस नोटिस को चिपका दिया। रोहित रंजन फरार हैं ऐसे में अब रोहित रंजन को 7 दिन के भीतर रायपुर के सिविल लाइंस थाने में पेश होकर अपना पक्ष रखने का नोटिस जारी किया है।

दरअसल बीते मंगलवार को रायपुर पुलिस की 15 जवानों और अफसरों की टीम गाजियाबाद पहुंची थी रोहित रंजन के घर में दाखिल होने के बाद अचानक स्थानीय पुलिस ने दखल दिया और रोहित रंजन को नोएडा की पुलिस पकड़ ले गई रोहित रंजन रायपुर की पुलिस के हाथ नहीं आए रायपुर के सिविल लाइन थाने में न्यूज़ एंकर रोहित रंजन के खिलाफ राहुल गांधी से जुड़ी फेक न्यूज़ प्रसारित करने का केस दर्ज किया गया है।

एंकर को गायब करने वाले पुलिसकर्मियों की शिकायत

छत्तीसगढ़ पुलिस गाजियाबाद एसएसपी मुनिराज जी. से मिलने पुलिस आफिस पहुंची। एसएसपी कलक्ट्रेट में आयोजित एक बैठक के लिए निकल चुके थे। छत्तीसगढ़ के रायपुर के नगर अधीक्षक उदयन बेहार ने एसपी क्राइम दीक्षा शर्मा से मिलकर इंदिरापुरम पुलिस के खिलाफ शिकायती पत्र दिया। पत्र में कहा है कि वह पुलिस के साथ रोहित रंजन के घर गिरफ्तारी वारंट को तामील करने आए थे, लेकिन इंदिरापुरम पुलिस ने सहयोग नहीं किया, बल्कि उन्हें साथ ले गई।

कोर्ट द्वारा रोहित रंजन के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया था। रायपुर से आई पुलिस टीम में उदयन बेहार के अलावा, निरीक्षक सुरेश कुमार, अजय झा व उपनिरीक्षक रोहित मालेकर शामिल थे। इंदिरापुरम पुलिस रोहित रंजन को उनके घर से निकाल कर स्विफ्ट कार में बैठाकर थाने की बजाय कहीं और ले गई। जब वह इंदिरापुरम थाने पहुंचे तो वहां से रंजन गायब थे।

आरोप है कि इंदिरापुरम थाना प्रभारी और उनके पुलिसकर्मी रंजन को थाने की बजाय किसी अन्य स्थान पर ले गए। एसपी क्राइम दीक्षा शर्मा को सौंपी शिकायत में उन्होंने रोहित रंजन को सौंपे जाने और पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।

हुआ हाई वोल्टेज ड्रामा

न्यूज़ एंकर रोहित रंजन ने अपने शो में राहुल गांधी का एक वीडियो गलत न्यूज़ के संदर्भ में पेश कर दिया इसी वजह से उन पर केस दर्ज किया गया है ।उन्हें गिरफ्तार करने छत्तीसगढ़ की पुलिस जब मंगलवार को रोहित के घर पहुंची तो उन्होंने लोकल पुलिस को इन्फॉर्म कर दिया लोकल पुलिस रायपुर पुलिस के अफसरों को धक्का मारते हुए रोहित को अपने साथ दूसरी जगह ले गई ।

रायपुर पुलिस को बताया गया कि रोहित को इंदिरापुरम थाने ले जाया जा रहा है । जबकि नोएडा पुलिस रोहित को अपने साथ ले गई । बाद में यह कह दिया कि रोहित रंजन पर केस दर्ज था जमानत पर उन्हें रिहा कर दिया गया है छत्तीसगढ़ की पुलिस ने जानकारी मांगी तो वह भी उपलब्ध नहीं कराई गई। अब छत्तीसगढ़ पुलिस को न्यूज़ एंकर रोहित रंजन की तलाश है रोहित रंजन का परिवार भी घर पर ताला लगा कर गायब हो चुका है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest