इश्क पर बवाल: धर्म बदलकर शादी की, शपथपत्र वायरल होने पर हंगामा, हिंदू संगठनों ने घेरी कोतवाली, बंद किया शहर

0
42


धर्मांतरण का आरोप लगा हिंदू संगठनों ने जशपुर बंद बुलाया।
– फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी

ख़बर सुनें

छत्तीसगढ़ के जशपुर में इश्क पर बवाल हो गया है। 22 साल की लड़की के धर्म बदलकर शादी करने का शपथपत्र वायरल होने के बाद परिजनों और हिंदू संगठन भड़के हुए हैं। विरोध में उन्होंने बुधवार देर रात कोतवाली का घेराव किया। इसके बाद गुरुवार को शहर बंद का एलान कर दिया है। इसके चलते जिला मुख्यालय सहित कई गांवों में दुकानें और प्रतिष्ठान बंद हैं। हालांकि युवती का मजिस्ट्रेट के सामने बयान भी हुआ है। इसमें उसने स्वेच्छा से धर्म बदलकर शादी की बात कही है। 

पहली बार पकड़े गए तो पुलिस ने भेजा था जेल
दरअसल, सारा मामला करीब छह साल पुराना है। कोतवाली क्षेत्र के रहने वाले युवक शहबाज और युवती सपना गुप्ता को एक-दूसरे से प्यार हो गया। इसके बाद 11 नवंबर 2021 को दोनों घर से भाग गए। परिजनों ने लड़की की गुमशुदगी दर्ज कराई और पुलिस ने दोनों को पत्थलगांव से गिरफ्तार कर लिया। शहबाज पर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई करते हुए उसे जेल भेज दिया गया, जबकि सपना को पुलिस ने परिजनों को सौंप दिया। इसके बाद भी दोनों के चोरी-छिपे एक-दूसरे से बात करते रहे। 

शादी तय हुई तो लड़की घर से भागी
इस दौरान नवंबर में परिजनों ने सपना की शादी कहीं और तय कर दी। इसका पता सपना को चला तो वह छह नवंबर को घर से भाग गई और शहबाज के पास आ गई। हालांकि इस बार जशपुर की अंजुमन इस्लामिया कमेटी ने युवती को पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने सपना के परिजनों को बुलाया, लेकिन उसने साथ जाने से इनकार कर दिया। वह शहबाज के साथ ही जाने पर अड़ी रही। दोनों बालिग हैं, इसके कारण सपना को पुलिस ने शहबाज के साथ रवाना कर दिया। 

हिंदू संगठनों ने लगाया धर्मांतरण का आरोप
दोनों ने 15 नवंबर को शादी कर ली। इनकी शादी के बाद 29 नवंबर को सपना के धर्म बदलकर निकाह करने का शपथ पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। सारा हंगामा इसके बाद ही शुरू हुआ। परिजनों के साथ हिंदू संगठन के लोग थाने पहुंचे और एक ज्ञापन सौंपा। इस पर पुलिस ने अगले दिन 30 नवंबर बुधवार को को मजिस्ट्रेट के सामने युवती का बयान कराया। इसमें युवती ने मर्जी से धर्म बदलने और निकाह करने की बात कही। हालांकि शाम को हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं ने बैठक की। 

शहर से लेकर गांव तक में बंद, फोर्स तैनात
करीब दो घंटे चली बैठक के बाद हिंदू संगठन रैली की शक्ल में कोतवाली पहुंच गए और युवक पर धर्मांतरण का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। वे लोग युवक और कथित धर्मांतरण में शामिल लोगों पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे। ऐसा नहीं करने पर गुरुवार को जशपुर बंद का ऐलान कर दिया। इसके बाद शहर से लेकर गांव तक की दुकानें बंद हैं। कुछ जगहों पर संगठनों की ओर से बंद कराया जा रहा है। करीब 150 से ज्यादा जवानों को सुरक्षा व्यवस्था में तैनात किया गया है।

विस्तार

छत्तीसगढ़ के जशपुर में इश्क पर बवाल हो गया है। 22 साल की लड़की के धर्म बदलकर शादी करने का शपथपत्र वायरल होने के बाद परिजनों और हिंदू संगठन भड़के हुए हैं। विरोध में उन्होंने बुधवार देर रात कोतवाली का घेराव किया। इसके बाद गुरुवार को शहर बंद का एलान कर दिया है। इसके चलते जिला मुख्यालय सहित कई गांवों में दुकानें और प्रतिष्ठान बंद हैं। हालांकि युवती का मजिस्ट्रेट के सामने बयान भी हुआ है। इसमें उसने स्वेच्छा से धर्म बदलकर शादी की बात कही है। 

पहली बार पकड़े गए तो पुलिस ने भेजा था जेल

दरअसल, सारा मामला करीब छह साल पुराना है। कोतवाली क्षेत्र के रहने वाले युवक शहबाज और युवती सपना गुप्ता को एक-दूसरे से प्यार हो गया। इसके बाद 11 नवंबर 2021 को दोनों घर से भाग गए। परिजनों ने लड़की की गुमशुदगी दर्ज कराई और पुलिस ने दोनों को पत्थलगांव से गिरफ्तार कर लिया। शहबाज पर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई करते हुए उसे जेल भेज दिया गया, जबकि सपना को पुलिस ने परिजनों को सौंप दिया। इसके बाद भी दोनों के चोरी-छिपे एक-दूसरे से बात करते रहे। 

शादी तय हुई तो लड़की घर से भागी

इस दौरान नवंबर में परिजनों ने सपना की शादी कहीं और तय कर दी। इसका पता सपना को चला तो वह छह नवंबर को घर से भाग गई और शहबाज के पास आ गई। हालांकि इस बार जशपुर की अंजुमन इस्लामिया कमेटी ने युवती को पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने सपना के परिजनों को बुलाया, लेकिन उसने साथ जाने से इनकार कर दिया। वह शहबाज के साथ ही जाने पर अड़ी रही। दोनों बालिग हैं, इसके कारण सपना को पुलिस ने शहबाज के साथ रवाना कर दिया। 

हिंदू संगठनों ने लगाया धर्मांतरण का आरोप

दोनों ने 15 नवंबर को शादी कर ली। इनकी शादी के बाद 29 नवंबर को सपना के धर्म बदलकर निकाह करने का शपथ पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। सारा हंगामा इसके बाद ही शुरू हुआ। परिजनों के साथ हिंदू संगठन के लोग थाने पहुंचे और एक ज्ञापन सौंपा। इस पर पुलिस ने अगले दिन 30 नवंबर बुधवार को को मजिस्ट्रेट के सामने युवती का बयान कराया। इसमें युवती ने मर्जी से धर्म बदलने और निकाह करने की बात कही। हालांकि शाम को हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं ने बैठक की। 

शहर से लेकर गांव तक में बंद, फोर्स तैनात

करीब दो घंटे चली बैठक के बाद हिंदू संगठन रैली की शक्ल में कोतवाली पहुंच गए और युवक पर धर्मांतरण का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। वे लोग युवक और कथित धर्मांतरण में शामिल लोगों पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे। ऐसा नहीं करने पर गुरुवार को जशपुर बंद का ऐलान कर दिया। इसके बाद शहर से लेकर गांव तक की दुकानें बंद हैं। कुछ जगहों पर संगठनों की ओर से बंद कराया जा रहा है। करीब 150 से ज्यादा जवानों को सुरक्षा व्यवस्था में तैनात किया गया है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here