Friday, September 30, 2022

आपरेशन नारकोस: उसलापुर में नर्मदा एक्सप्रेस के स्लीपर कोच से 10 किलो गांजा बरामद

More articles


Publish Date: | Thu, 16 Jun 2022 02:38 PM (IST)

बिलासपुर। रेल सुरक्षा बल का आपरेशन नारकोस कारगर साबित हो रहा है। बुधवार को इंदौर- बिलासपुर नर्मदा एक्सप्रेस के स्लीपर कोच से आरपीएफ ने 10 किलो गांजा बरामद किया है। गांजा दो बैग में लावारिस पड़ा हुआ था। आरपीएफ ने आरोपित को पकड़ने के लिए पूछताछ भी की, लेकिन कोई सामने नहीं आया। जब्त गांजा जीआरपी को सुपुर्द कर दिया गया। आगे की जांच जीआरपी ही करेगी।

आरपीएफ ने इस अभियान की शुरुआत एक जून से की है। 30 जून तक चलने वाले इस अभियान के दौरान बिलासपुर रेल मंडल के प्रत्येक आरपीएफ पोस्ट व आउट पोस्ट की टीम अपने क्षेत्राधिकार के स्टेशनों में और यहां से गुजरने वाली ट्रेनों में जांच कर रही है। इसी के तहत उसलापुर चौकी के उपनिरीक्षक एनपी मिश्रा व हमराह स्टाफ प्रधान आरक्षक एचके विश्वकर्मा एवं आरक्षक उमेश पुंडीर के साथ उसलापुर स्टेशन की जांच कर रहे थे।

इस दौरान प्लेटफार्म नंबर दो 18234 नर्मदा एक्सप्रेस आकर खड़ी हुई। टीम इस ट्रेन को जांच करने लगी। तभी एस-1 में इंजन की ओर के शौचालय के पास दो लावारिस बैग नजर आया। इस तरह लावारिस वस्तुओं को लेकर आरपीएफ बेहद सजग रहती है। इसलिए उन्होंने इसे देखते हुए पूछताछ करनी शुरू कर दी। लेकिन कोई भी आगे नहीं आया।

इस पर संदेह हुआ और टीम ने बैग को खोलकर जांच की। दोनों बैग में पैकेट में गांजा बंधा हुआ था। लिहाजा उसलापुर स्टेशन में ही उतारा गया। चूंकि आरपीएफ को जब्ती या कार्रवाई का अधिकार नहीं है। इसलिए उन्होंने नियमों का पालन करते हुए इसकी सूचना जीआरपी पोस्ट प्रभारी हरीश शर्मा को दी। उनकी हामी के बाद गांजा को जीआरपी थाने में सौंप दिया गया।

जीआरपी ने इस मामले में जांच उपरांत अज्ञात आरोपित के विरुद्ध 20(बी) एनडीपीएस एक्ट के तहत अपराध पंजीकृत कर लिया है। इसके साथ ही अज्ञात आरोपित की पतासाजी शुरू कर दी गई है। आरोपितों के जल्द हिरासत में होने की उम्मीद है। दरअसल सीसीटीवी कैमरे की मदद से आरोपितों तक आसानी से पहुंचा जा सकता है। इस बैग को लेकर कौन ट्रेन में चढ़ा था, इसकी जानकारी खंगालने का निर्णय लिया गया है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest