Sunday, October 2, 2022

आइजी के रीडर ने युवक को थमा दी फर्जी नियुक्ति पत्र भाजपा पार्षद समेत चार गिरफ्तार

More articles


Publish Date: | Thu, 16 Jun 2022 04:55 PM (IST)

बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। करगीरोड कोटा में रहने वाला युवक बुधवार की दोपहर फर्जी नियुक्ति पत्र लेकर एसपी आफिस पहुंच गया। पूछताछ के बाद युवक ने बताया कि आइजी आफिस के रीडर ने उन्हें नियुक्ति पत्र दिया है। एसपी ने मामले की जांच के लिए सिविल लाइन थाना प्रभारी को निर्देश दिए। इसकी जांच के बाद पुलिस ने आइजी आफिस के रीडर और भाजपा पार्षद समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

एएसपी उमेश कश्यप ने बताया कि बुधवार की दोपहर कोटा में रहने वाला पीयूष प्रजापति आरक्षक पद में ज्वाइनिंग के लिए नियुक्ति पत्र लेकर एसपी आफिस पहुंचा। नियुक्ति पत्र देखकर कर्मचारियों ने एसपी पास्र्ल माथुर को इसकी जानकारी दी। एसपी ने नियुक्ति पत्र को फर्जी बताकर युवक से पूछताछ की। इसमें युवक ने बताया कि उसे इसे भाजपा पार्षद रेणुका नागपुरे और आइजी आफिस के रीडर पंकज शुक्ला ने दी है। इसके बाद एसपी ने मामले की जांच के लिए सिविल लाइन पुलिस को निर्देश दिए। एसपी के निर्देश पर सिविल लाइन पुलिस ने पीयूष को थाने लाकर पूछताछ की। इसमें उसने बताया कि नौकरी के लिए उसने भाजपा पार्षद रेणुका नागपुरे को आठ लाख स्र्पये दिए थे। इसके अलावा मामले में आइजी आफिस के रीडर पंकज शुक्ला, नगर निगम का कर्मचारी भोजराज नायडू शामिल है। मामले में पुलिस पीयूष के साथ ही सभी आरोपित को गिरफ्तार किया है। आरोपित के कब्जे से पुलिस ने आठ लाख स्र्पये नकद, फर्जी नियुक्ति पत्र बनाने के लिए उपयोग में लाए गए लैपटाप, मोबाइल को जब्त कर लिया है।

और भी लोग भी आ सकते हैं सामने

मामले की जांच में पता चला है कि आरोपित भाजपा पार्षद और उसके साथियों ने नौकरी लगाने के नाम और भी लोगों से स्र्पये लिए हैं। बुधवार को धोखाधड़ी का मामला सामने आने के बाद और भी लोग सामने आ सकते हैं।

Posted By: Yogeshwar Sharma

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest